कोलकाता। पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में ईडी द्वारा अपने मंत्री पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी पर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुप्पी तोड़ते हुए पहली बार प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि वे भ्रष्टाचार या किसी तरह के गलत काम का समर्थन नहीं करती हैं। बता दें कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ़्तार किया था। पश्चिम बंगाल में स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के ज़रिए भर्तियों में कथित घोटाले के आरोप में पूर्व शिक्षा मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी की गिरफ़्तारी हुई है।

इस मामले पर ममता बनर्जी ने कहा- अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उस पर कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन मैं अपने ख़िलाफ़ दुर्भावनापूर्ण अभियान की निंदा करती हूँ। उन्होंने कहा कि एक तय समय सीमा के अंदर सच्चाई सबके सामने आनी चाहिए। बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर वो ये सोचती है कि वो एजेंसियों का इस्तेमाल करके मेरी पार्टी तो तोड़ सकती है तो वो गलत सोच रही है।

गौरतलब है कि शनिवार सुबह पार्थ की क़रीबी रहीं अर्पिता मुखर्जी के आवास से 21 करोड़ से ज़्यादा की नक़दी, लाखों के आभूषण और विदेशी मुद्रा बरामद होने के बाद इस घोटाले की जाँच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं स्वास्थ्य समस्या होने के बाद पहले एसएसकेएम फिर कोर्ट के निर्देशानुसार उन्हें भुवनेश्वर एम्स ले गई।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 4 =