योग को दैनिक जीवन का हिस्सा बनाएं

वास्तुकला संकाय ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सीखा सांसों को नियंत्रण करने की पद्धति

लखनऊ। योग को बनाएं अपने जीवन का अभिन्न अंग। योग न केवल हमारे शरीर की मांसपेशियों को अच्छा व्यायाम देता है, बल्कि यह हमारे शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। इसी उद्देश्य के साथ शुक्रवार को आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग फैकल्टी (एफओएपी), एकेटीयु ने लखनऊ आर्किटेक्ट्स एसोसिएशन (एलएए) के सहयोग से टैगोर मार्ग अपने परिसर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 का आयोजन योग शिविर के रूप में किया। संस्था के संकाय सदस्यों, छात्रों और कर्मचारियों के साथ शहर के कई वास्तुकार ने प्रमाणित योग प्रशिक्षक विष्णु केशरी, जो संस्था में अंतिम वर्ष के छात्र भी हैं, के मार्गदर्शन में प्रातः 5:30 बजे योग किया।

आयुष मंत्रालय, सरकार के अनुसार योग प्रोटोकॉल का पालन करते हुए योग सत्र 45 मिनट तक चला। इस दौरान प्रार्थना, वृक्षआसन, ताड़ आसन, त्रिकोण आसन, भुजंग आसन, प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, ध्यान और समस्त विश्व की भलाई के लिए प्रार्थना के साथ समाप्त हुआ। एलएए और एफओएपी के गणमान्य व्यक्तियों द्वारा सभी प्रतिभागियों और छात्रों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। वरिष्ठ आर्किटेक्ट डॉ. के.के. अस्थाना, आर्किटेक्ट संजय माथुर और डॉ. वंदना सहगल, प्रिंसिपल और डीन, एफओएपी ने प्रतिभागियों को योग को दैनिक जीवन का हिस्सा बनाने के लिए प्रेरित किया और साथ ही स्वस्थ जीवन शैली पर जोर देने को कहा।

सत्र में एलएए अध्यक्ष ए. प्रशांत पाल सिंह, महासचिव ए. देवेश मणि त्रिपाठी, एफओएपी विभागाध्यक्ष डॉ. ऋतु गुलाटी ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। एफओएपी की ओर से एसोसिएट डीन डॉ. अंजनेय शर्मा ने कार्यक्रम का समन्वय किया। इस कार्यक्रम को प्रिज्म सीमेंट द्वारा समर्थित किया गया था। अनुराग भट्ट, क्षेत्रीय प्रबंधक और अनुराग शर्मा, क्षेत्रीय तकनीकी प्रमुख और अर्चित दीक्षित ने अपनी टीम के साथ इस कार्यक्रम में भाग लिया।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *