प्रतिकात्मक फोटो, साभार गूगल

कोलकाता। बंगाल में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना ने सरकार की चिंताएं बढ़ा दी है। वहीं दूसरी तरफ कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज की समय सीमा लांघ चुके कोलकाता समेत राज्य के 9 जिलों के लाखों लोगों ने राज्य के स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। बड़ी बात यह कि इस सूची में सबसे ऊपर कोलकाता है। यहां वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लेने वालों की संख्या 2 लाख 82 हजार है। मुख्य सचिव ने इन जिलों के प्रशासनिक अधिकारियों को सक्रिय होकर लोगों को दूसरी डोज देने पर जोर देने का निर्देश दिया है।

उल्लेखनीय है कि पहली डोज लेने के चार महीने बीत जाने पर भी दूसरी डोज नहीं लेने पर वैक्सीन ओवरड्यू समझी जाती है। नवान्न के सूत्रों ने बताया कि कोलकाता, मालदह, बीरभूम, कूचबिहार, पूर्व व पश्चिम बर्दवान, हावड़ा, मुर्शिदाबाद व उत्तर 24 परगना जिले में निर्धारित समय बीत जाने पर भी दूसरी डोज नहीं लेने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है।

कोलकाता में कोरोना के हालात सबसे ज्यादा खराब हैं। इसी के साथ मालदह में दूसरी डोज नहीं लेने वालों की संख्या 2 लाख 14 हजार है। मुर्शिदाबाद में 2 लाख 10 हजार है बाकी अन्य जिलों में भी यह संख्या 1 लाख से ज्यादा है। इस बीच तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने स्वामी विवेकानंद की जयन्ती पर 12 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में बड़े पैमान पर कोरोना जांच कराने की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि लोगों की सेवा और कल्याण तृणमूल की पहली वरीयता है।

उन्होने 15 कोरोना नियंत्रण प्रबंधन कंट्रोल रूम की सूची और उनके फोन नंबर जारी किए हैं,। डायमंड हार्बर के अलावा बाजवाज, महेशतला, पुजाली, फाल्टा, बिष्णुपुर, ठाकुरपुकुर क्षेत्र में कोरोना जांच केद्र खोले गए हैं। इससे पहले अभिषेक बनर्जी ने अपने लोकसभा क्षेत्र में ‘डॉक्टर ऑन व्हील्स’ सेवा की घोषणा की थी, जो मंगलवार से शुरू हो गई है। इसके तहत गाड़ी में सवार डॉक्टर कोरोना संक्रमितों के घर घर जाकर उनका इलाज कर रहे हैं। यह अभियान जिला प्रशासन एवं चिकित्सक संगठन ‘प्रोटेक्ट द वेरियर’ के सहयोग से शुरू किया गया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × two =