बगैर वेतन के जीने को मजबूर ठेका श्रमिक, सौंपा स्मार पत्र

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : लॉक डाउन लागू होने के बाद से वेतन से वंचित खड़गपुर रेल मंडल के ठेका श्रमिकों के भुगतान का मसला अब भी अनसुलझा है । ऐसे में उनके सामने विकट परिस्थितियाँ उत्पन्न होती जा रही है । रेलवे कांटैक्टर्स लेबर यूनियन के तहत मंगलवार को रेलवे स्टेशन व अन्य जगहों पर कार्यरत करीब ३०० ठेका श्रमिकों ने खड़गपुर स्थित मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के समक्ष जमायत की और प्रदर्शन के बाद डी आर एम को संबोधित स्मार पत्र कार्यालय में जमा कराया ।

यूनियन के अध्यक्ष अनिल दास ने कहा कि खड़गपुर में करीब ३०० ठेका श्रमिक हैं जो स्टेशन पर रेलवे के लिए सफाई और जलापूर्ति आदि के कार्य करते हैं । लॉक डाउन लागू होने के बाद से इन्हें वेतन नहीं मिला है , जिससे उनकी स्थिति दिनोंदिन विकट होती जा रही है । नौबत भुखमरी और पढ़ रहे बच्चों का स्कूल से नाम कटा देने तक की आ गई है ।

यह परिस्थिति प्रधानमंत्री के उस आह्वान का सरासर उल्लंघन है , जिसके तहत उन्होंने किसी का वेतन न काटने की बात कही थी । इस मुद्दे पर पहले भी आंदोलन हो चुका है । मंगलवार को वार्ता के क्रम में वित्तीय अधिकारियों ने आर्थिक संकट की दलील दी । लेकिन सवाल है कि जो महकमा ठेका श्रमिकों को वेतन नहीं दे पा रहा , उसके अफसरों के ऐशों आराम में तो कोई कमी नजर नहीं आती ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 2 =