Kohli and rohit

लंदन। विराट कोहली के खराब फॉर्म को लेकर लगातार हो रही चर्चा पर भड़के भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने एक बार फिर उनका बचाव करते हुए कहा कि उनकी समझ से परे है कि यह चर्चा क्यो हो रही है। प्रेस कांफ्रेंस में रोहित ने कोहली के खराब फॉर्म के बारे में पूछने जा रहे एक पत्रकार को बीच में ही टोक दिया।रोहित ने कहा ,‘‘ इस पर बात क्यूं हो रही है यार। मतलब समझ में नहीं आता भाई ।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ उसने इतने लंबे समय तक इतने सारे मैच खेले हैं। वह इतना महान बल्लेबाज है और उसे किसी तरह के आश्वासन की जरूरत नहीं है।’’

इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर ने भी कोहली का बचाव करते हुए कहा कि उसके जैसे प्रतिभाशाली क्रिकेटर को बस एक बड़ी पारी की जरूरत है। ग्रोइन की चोट के कारण पहले वनडे से बाहर रहने के बाद कोहली ने दूसरे वनडे में वापसी की लेकिन 16 रन ही बना सके। इससे पहले टी20 श्रृंखला में उन्होंने 1 और 11 रन बनाये थे जिसके बाद कपिल देव जैसे धुरंधरों ने कहा था कि उसे टीम से बाहर क्यो नहीं किया जा सकता।

रोहित ने हालांकि कहा कि कोहली की टीम में जगह सुरक्षित है और उन्हें किसी तरह के आश्वासन की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा ,‘‘ मैने पहले भी कहा है कि फॉर्म ऊपर नीचे होता रहता है । यह हर क्रिकेटर के साथ होता है। महानतम क्रिकेटरों के कैरियर में भी उतार चढाव आये हैं।  उसने भारत के लिये इतने मैच जीते हैं और उसे फॉर्म में वापसी के लिये एक या दो पारियों की जरूरत है। ऐसा मेरा मानना है और मुझे यकीन है कि क्रिकेट देखने वाले भी ऐसा ही सोचते होंगे।’’

रोहित ने कहा ,‘‘ मुझे पता है कि इस पर बात हो रही है लेकिन हमें समझना होगा कि इतने साल में इतने खिलाड़ियों ने उतार चढाव का सामना किया है लेकिन श्रेष्ठता बरकरार रहती है । इसे ध्यान में रखना होगा । उसके पिछले रिकॉर्ड देखिये । उसके शतक, उसका औसत, उसका अनुभव । निजी जीवन में भी तो खराब दौर आता है।’’ वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी टी20 श्रृंखला के लिये कोहली टीम में नहीं है । बताया गया है कि उन्होंने आराम मांगा है।

बटलर ने भी कोहली का बचाव करते हुए कहा,‘‘ कोहली भी इंसान है और कुछ मैचों में उसका स्कोर खराब हो सकता है। वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक है। इतने साल से इतना शानदार खेल रहा है और सभी खिलाड़ियों के कैरियर में खराब दौर आता है। विरोधी कप्तान होने के नाते मैं इतना कह सकता हूं कि उसके जैसे खिलाड़ी को एक पारी की जरूरत है लेकिन उम्मीद है कि वह हमारे खिलाफ नहीं बनाये। अत्यधिक व्यस्त अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर में द्विपक्षीय श्रृंखलाओं की प्रासंगिकता के बारे में रोहित ने कहा कि त्रिकोणीय या चार देशों की श्रृंखला एक रास्ता हो सकता है।

उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे भी लगता है कि यह महत्वपूर्ण है लेकिन इसका भविष्य में बेहतर उपाय हो सकता है। कार्यक्रम बनाते समय थोड़ा ब्रेक भी जरूरी है। जब हम छोटे थे तब तीन देशों या चार देशेां की श्रृंखलायें होती थी लेकिन अब यह पूरी तरह से बंद हो गई। यह रास्ता हो सकता है जिसमें टीमों को रिकवरी का समय मिल जायेगा। देश के लिये खेलते समय काफी दबाव वाले मुकाबले होते हैं और हर बार आप सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहते हैं।’’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 12 =