।।सन् 2022 में धनु राशि का वार्षिक राशिफल।।

धनु SAGITTARIUS
(ये, यो, भ, भी, भू, धा, फा, ढ़ा, भे)
शुभरंग– पीला,
शुभ– अंक 9,
शुभ घातु– सोना,
शुभरत्न– पुखराज,
शुभदिन– गुरुवार,
ईष्ट– सत्यनारायण का व्रत व पूजन से
लाभ होगा,
शुभमास– चैत्र, मार्गशीर्ष, माघ, फाल्गुन,
मध्यममास– वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़,
अशुभमास– श्रावण, भाद्रपद, आश्विन, कार्तिक व पौष।

धनु राशि के जातक काफी उदार, आदर्शवादी और मजाकिया प्रवृत्ति के तथा खुले माहौल में रहना पसंद करते हैं। इन्हें अपनी आजादी में व्यवधान सहन नहीं होता। ये तीव्र जिज्ञासा से भरे और भ्रमण के शौकीन होते हैं लेकिन चिपकू लोगों को नापसंद करते हैं। अगर किसी के साथ उनकी सही ट्यूननिंग बैठ जाए तो ये बहुत वफादार, भरोसेमंद और समर्पित साबित होते हैं तथा जीवन एवं संस्कृति की विविधता का आनंद लेना बेहद पसंद करते हैं। इस राशि के जातक बहुत महत्वाकांक्षी होते हैं। अपने लिए पहले से ज्यादा बड़े लक्ष्य तय करने में इनका विश्वास होता है। कभी-कभी उत्साह में आकर ये कुछ ऐसे काम कर देते हैं जिनके परिणाम अच्छे नहीं होते और कभी-कभी इनमें असुरक्षा की भावना भी आ जाती है। अपनी मित्र मंडली के बीच ये खासे लोकप्रिय एवं चर्चित होते हैं। इनकी दोस्ती कई प्रभावशाली लोगों से भी रहती है। हालांकि, इनके दुश्मन और ईर्ष्या करने वाले भी काफी होते हैं लेकिन इन्हें अधिक नुक्सान नहीं पहुंचा पाते।

इस राशि के जातक किसी एक रिश्ते में पड़ कर बोर होने से डरते हैं। उन्हें लगता है कि किसी एक इंसान के साथ रिश्ता कायम करके उनकी जिंदगी एक ढर्रे पर चल कर बोरियत से भर जाएगी। धनु राशि वाले लड़के सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होते हैं और अपने साथी को भी प्रेरणा देते हैं। जिंदगी की हर परेशानी का जवाब ये अपनी दिलकश मुस्कान से देते हैं। यह भी कहा जाता है कि धनु राशि वाले काफी खुले विचारों के होते हैं। जीवन के अर्थ को अच्छी तरह समझते हैं। दूसरों के बारे में जानने की कोशिश हमेशा करते रहते हैं। ये रोमांचप्रिय, निडर व आत्मविश्वासी, अत्यधिक महत्वाकांक्षी और स्पष्टवादी होते हैं लेकिन स्पष्टवादिता के कारण दूसरों की भावनाओं को ठेस भी पहुंचा देते हैं। इनके अनुसार जो इनके द्वारा परखा हुआ है वही सत्य है अत: इनके मित्र कम होते हैं। ये धार्मिक विचारधारा से दूर होते हैं।

धनु राशि के लड़के मध्यम कद-काठी के होते हैं। इनके बाल भूरे और आंखें बड़ी होती हैं। इनमें धैर्य की कमी होती है। इन्हें मेकअप करने वाली लड़कियां पसंद होती हैं तथा भूरा और पीला रंग प्रिय होता है। अपनी पढ़ाई और करियर के कारण अपने जीवन साथी और विवाहित जीवन की उपेक्षा कर देते हैं। धनु राशि की लड़कियां लम्बे कदमों से चलने वाली होती हैं। ये आसानी से किसी के साथ दोस्ती नहीं करतीं। ये अच्छी श्रोता होती हैं और इन्हें खुले और ईमानदारीपूर्ण व्यवहार के व्यक्ति पसंद आते हैं। इनके जीवन में भौतिक सुखों की महत्ता रहती है। सामान्यत: सुखी और सम्पन्न जीवन व्यतीत करती हैं।

इस वर्ष करियर के दृष्टिकोण से देखा जाये तो आपको अपने करियर के क्षेत्र में काफी मेहनत करनी पड़ सकती है और वहीं आर्थिक दृष्टिकोण से यह साल आपके लिए सकारात्मक रह सकता है। इस वर्ष आपको कई यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। ग्रहों की स्थिति आपके लिए अनुकूल रह सकती है। सामाजिक और धार्मिक कार्यों में इस वर्ष आप पूरी ऊर्जा और उत्साह के साथ भाग लेते नजर आ सकते हैं। 2022 धनु भविष्यवाणी के अनुसार इस वर्ष आपको पिछले साल किए गए मेहनत का फल भी प्राप्त होने की संभावना है। यह वर्ष धनु राशि के जातकों के लिए संतान के दृष्टिकोण से भी सुखद रहने की संभावना है। इसके अलावा आपको इस वर्ष अपने मित्रों का भी पूरा सहयोग और समर्थन प्राप्त हो सकता है जिससे आपका मन प्रसन्न रहने की उम्मीद है। हालांकि आपके पारिवारिक जीवन में कुछ समस्याएं आ सकती हैं लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि आप इनसब में पड़ कर अपने लक्ष्य से न भटकें। 2022 धनु वार्षिक भविष्यवाणी के अनुसार इस साल धनु राशि के जातकों के करियर में प्रगति होने के योग हैं और साथ ही पेशेवर जीवन में आपके वेतन में बढ़ोतरी भी हो सकती है।

इस साल की आखिरी तिमाही में आप अपने व्यस्त जीवन से कुछ फुर्सत के पल निकाल पाने में सफल रह सकते हैं। यदि साल भर आप अपने खर्चों पर नियंत्रण रखते हैं तो इस अवधि में आपकी वित्तीय स्थिति सही रहने की संभावना है और साल के आखिरी कुछ महीनों में आप इसका लुत्फ उठा सकते हैं। इस अवधि में आप अपनी आंतरिक शांति को ढूँढने में सफल रह सकते हैं और स्वयं को मुक्त महसूस कर सकते हैं।

कुल मिला कर देखा जाए तो इस साल धनु राशि के जातकों के लिए काफी सकारात्मक रहने की उम्मीद है क्योंकि पूरे वर्ष उनके ऊपर बृहस्पति की कृपा बनी रहने वाली है। हालांकि इसके बावजूद भी आपको इस वर्ष अपने करियर में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। कुंभ राशि में शनि के गोचर से आपके जीवन में स्थिरता आने की संभावना है और इसकी मदद से आप असुरक्षित परिस्थितियों पर काबू पाने में सफल रह सकते हैं। शनि के प्रभाव की वजह से आप अपने वैवाहिक और प्रेम जीवन में प्यार और स्नेह का प्रदर्शन कर पाने में असमर्थ रह सकते हैं। यह अवधि ज़्यादातर धनु राशि के जातकों के लिए व्यावहारिक रह सकती है और इस दौरान आप अपने लंबे अवधि के लक्ष्य और महत्वाकांक्षा को प्राप्त करने में सफल हो सकते हैं।

इस वर्ष 12 अप्रेल से पांचवें स्थान में राह अशुभ फलदायक है। किंकर्तव्य विमूढ़ता एवं बुद्धि विवेक में न्यूनता के कारण मानसिक व्यथा, भाग्योदय में विघ्न, मित्रों से विरोध, स्त्री-सन्तान को कष्ट होगा। स्त्री वर्ग को गर्भपात आदि से शारीरिक कष्ट संभव है। आर्थिक कष्ट भी अनुभव होंगे। 13 अप्रेल से राशिपति गुरु चतुर्थ स्थान में स्वराशि में होने से सामान्य शुभफलकारक ही रहेगा। पारिवारिक जनों से सम्बन्धित समस्याओं के कारण धन व्यय होगा। वर्ष में 29 अप्रैल से तृतीय शनि आरोग्य, पराक्रम, सुख में वृद्धि करेगा। गृह, भूमि आदि का सुख मिलेगा किन्तु सन्तान पक्ष से चिन्तायें बनी रहेंगी। 4 जून से शनि वक्री होकर 12 जुलाई से छः माह के लिये पुनः दूसरे स्थान में उतरती साढ़ेसाती के रूप में स्वर्णपाद से गतिशील होगा।

फलतः परिवार में क्लेश, धनहानि, चिन्ता, रोगभय, निजजनों से विरोध आदि के कारण कष्टप्रद समय रहेगा। शत्रु वर्ग भी परेशानी का कारण बनेंगे । 23 अक्टूबर से शनि मार्गी होकर 17 जनवरी 2023 से पुनः तीसरे स्थान में शनि आने पर साढ़ेसाती से निवृत्ति मिलेगी। तीसरे शनि के शुभ प्रभाव से कार्य व्यवसाय में उनति प्रगति से धन संचय होगा। कार्यों में सफलता मिलने के साथ रोजगार की प्राप्ति होगी। शारीरिक सुख तथा प्रभाव में वृद्धि होगी। सारांशतः वर्ष में ग्रह गोचर अधिक रूप में अशुभ फलदायक है। आगामी वर्ष में स्थिति में सुधार होगा। शनि व राहु के अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिये धर्मशास्त्रोक्त उपाय करने चाहिये।

।।मासिक राशिफल।।

जनवरी : संतान के विषय में सुखद समाचार प्राप्त होंगे। प्रथम सप्ताह उन्नतिदायक, हर्षप्रदायक होगा। आपकी सहनशीलता आपको भविष्य में लाभ देगी। प्रशासन में काम अटकेंगे। अतिथि सत्कार में व्यस्त होंगे। पिता-पुत्र में वैचारिक मतभेद होंगे। धन अटकने से मन खिन्न होगा।
माह की 1, 2, 3, 10, 11, 12, 19, 20, 21, 28, 29 व 30 तारीख सर्वश्रेष्ठ है।

फरवरी : माता-पिता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हो सकते हैं। मांगलिक आयोजनों से मन हर्षित होगा। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। वरिष्ठजन आपसे प्रसन्न रहेंगे। कार्यक्षेत्र में अनुबंध के लिए समय श्रेष्ठ है। यात्राओं से लाभ होगा।
माह की 1 से 5, 15 से 20 व 26 से 29 तारीख शुभ है।

मार्च : किसी अनजान के सहयोग से रुके कार्य सिद्ध होंगे। परिवार में शान्ति एवं कार्यक्षेत्र में वृद्धि से मन प्रसन्न होगा। भ्रम से मुक्ति मिलेगी एवं मन में सकारात्मक भाव आयेंगे। आपकी सलाह को लोग गंभीरता से लेंगे। कोर्ट-कचहरी के विवाद का हल निकलेगा एवं बीमा या विरासत से धन मिलेगा। रिस्क ले सकते है, इस समय मनोवांछित फल मिलेगा।
माह के तीसरे व चौथे सप्ताह में किये कार्य सिद्ध होंगे।

अप्रैल : ईश्वर की आराधना में समय व्यतीत करें। भोजन से गर्मी या बदहजमी का शिकार होंगे। अनर्थक क्लेश से मन खिन्न होगा। आपके कार्य आसानी से सम्पन्न होंगे। कानूनी मसले, अधिकार और सुरक्षा को लेकर विवाद हो सकता है। आध्यात्मिक यात्रा से आनंद प्राप्त होगा। जिस कार्य में हाथ डालेंगे, उसी में हानि होने से मन खिन्न होगा।
माह के तीसरे सप्ताह में तीर्थ का योग है।

मई : जीवन में सत्य के साथ रहना हितकर होगा। व्यापार व मनोरंजन के लिए समय का सामंजस्य स्थापित होगा। आर्थिक समस्या होगी। घर के बुजुर्गों की सेहत खराब हो सकती है। वरिष्ठजनों की सलाह से लाभ होगा। राहु का पंचमस्थ गोचर शिक्षा के क्षेत्र में भ्रमित रखेगा। शोकसभा में जाना पड़ सकता है। आय के स्रोत बढ़ेंगे।
माह की 2, 3, 5, 7, 11, 12, 14, 16, 20, 21, 23 व 25 तारीख को स्वयं को नियंत्रित रखें।

जून : गुरुजनों का आशीर्वाद लेकर किसी कार्य को करें सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी, कर्मशील बने न कि भाग्य के भरोसे रहे। कार्यक्षेत्र की व्यस्तता से परिवार को समय नहीं दे पायेंगे। कार्यक्षेत्र में अन्य आपसे जल्दी तरक्की कर जायेंगे, जिससे मन खिन्न होगा।
माह का चौथा सप्ताह शुभ नहीं।

जुलाई : नए काम के अवसर प्राप्त होंगे। अष्टमस्थ चन्द्रमा के कारण – मनमाफिक कार्य नहीं होगा। कार्यक्षेत्र की जिम्मेदारियों से मन खिन्न होगा। यात्रा के मिश्रित अनुभव मिलेंगे। प्रतियोगिता-साक्षात्कार में सफलता मिलेगी। उच्चाधिकारियों से मन त्रस्त होगा।
माह की 1, 3, 10, 12, 19, 21 व 28 तारीख शुभ है।

अगस्त : विदेश यात्रा का योग है। समय मिश्रित फलदायक होगा। अनचाहे अतिथियों के रुष्ट मन से सत्कार के कारण धन का अपव्यय महसूस करेंगे। कार्यक्षेत्र में आपका हुनर आपको तारीफ दिलवायेगा। संतान का बाहर जाना मन खिन्न करेगा, लेकिन उसकी तरपक्की बाद में संतोष देगी।
माह के प्रथम सप्ताह में किसी व्यक्ति से शुभ फल प्राप्त होंगे।

सितम्बर : गौ सेवा आपके लिए श्रेष्ठ परिणाम देगी। श्रेष्ठ भोजन व वाहन का सुख मिलेगा। कार्यक्षेत्र में आपका उत्साह उच्चाधिकारियों से संबंध अच्छे करेगा। रोजगार के नये अवसर प्राप्त होंगे। मांगलिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। व्यापारिक यात्राओं से लाभ होगा। धन के अपव्यय से बचें, अन्यथा कर्जदार बन जायेंगे।
माह की 4, 6, 13, 15, 22 व 23 को छोड़कर सभी तारीख उत्तम।

अक्टूबर : मन विचलित रहेगा। कार्यक्षेत्र में अनाचाहा काम करने से मन असंतुलित होगा। बिना सोचे कार्य करने से हानि ही होगी। आपका अहंकार आपके आस-पास का माहौल खराब कर देगा। अभी कर्म करेंगे और उसका फल भविष्य में मिलेगा। लापरवाही के कारण हानि होगी, परिवारजन आपसे दूर होंगे।
माह के प्रथम सप्ताह मुश्किल होगा।

नवम्बर : रुके कार्य सिद्ध होंगे। समय संतोषप्रदा होगा पुरानी बीमारी से छुटकारा मिलेगा। लक्ष्य की सही पहचार से भाग्य के सकारात्मक द्वार खुलेंगे। चतुर्थ चन्द्रमा कष्टकारी होगा, जिससे अपने ही लोगा विरोध करेंगे। मांगलिक कार्यों में व्यस्तत बढ़ेगी।
माह का अंतिम सप्ताह शुभ नहीं है।

दिसंबर : चितन, मनन की आवश्यकता है। आपकी छवि चमकेगी एवं लाभ से मन हर्षित होगा। लापरवाही से बनते काम भी बिगड़ सकते है। महिलाओं के लिए कार्यक्षेत्र में तरक्की होगी। लालच के चक्कर में अपना नुकसान कर लेंगे।
माह की 1, 2, 3, 5, 6, 8, 9, 10, 11, 12, 15, 18, 19, 20, 21, 23, 24, 2730 तारीख शुभ होगी।

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें
जोतिर्विद वास्तु दैवज्ञ
पं. मनोज कृष्ण शास्त्री
9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 3 =