तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर । हमारी संस्कृति आक्रमण के बजाय सदैव आत्मरक्षा को बेहतर विकल्प मानती आई है। नई पीढ़ी के लिए भी यह सिद्धांत अनुकरणीय है। खड़गपुर स्पोर्टस कराटे के तत्वावधान में आयोजित नेशनल क्यूचुशिन कराटे 2022 में यह बात वक्ताओं ने कही। स्थानीय गीतांजलि भवन में आयोजित इस प्रतियोगिता में रेल मजिस्ट्रेट हिमाद्रि, सभासद डॉ. तपन प्रधान तथा खड़गपुर स्पोर्टस कराटे के महासचिव किशोर कुमार पंडित समेत बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति तथा प्रतिभागी मौजूद रहे।

राष्ट्रीय खुली क्यूचुशिन कराटे चैम्पियनशिप 2022 में विभिन्न आयु वर्ग की कुल 28 श्रेणी में 123 प्रतिभागियों ने भाग लिया। विभिन्न वर्ग के श्रेष्ट प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। अपने संबोधन में वक्ताओं ने कहा कि खड़गपुर में इस स्तर की चैंपियनशिप का आयोजन बड़ी बात है। निश्चित रूप से प्रतिभागी यहां से काफी कुछ सीखकर जाएंगे, जो उनके पेशेवर जीवन की सफलता में सहायक सिद्ध होगा। “आक्रमण से बेहतर विकल्प है आत्मरक्षा” उन्होंने कहा कि चैंपियन बनने से चूके प्रतिभागियों को निराश नहीं होना चाहिए। बल्कि अपने प्रदर्शन में सुधार का संकल्प लेना चाहिए।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 16 =