उत्तरपाड़ा, हुगली । रविवार 24 जुलाई 2022 को उत्तरपाड़ा के माखला अंचल में मां विंध्यवासिनी नागरिक सेवा समिति के प्रांगण में राष्ट्रीय साहित्यिक संस्था ‘शब्दाक्षर’ द्वारा एक भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन हुआ, लगे ठहाके मोहब्बत का सिंगार हुआ, शब्दाक्षर के मंच पर वीरों का गुणगान हुआ, बहुत सारे कवियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और श्रोताओं के मन को मोह लिया। रवि प्रताप सिंह के गीत पर लोग झूम उठे वही श्री प्रकाश गुप्ता ने आज के संदर्भ में बात कही।

मुख्य अतिथि के रूप में हिंदी और भोजपुरी के महान लेखक अनिल कुमार नीरद मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता दयाशंकर मिश्रा ने किया। जय कुमार रुसवा के मंच संचालन ने श्रोताओं को बहुत आकर्षित किया। मां विंध्यवासिनी नागरिक सेवा समिति के सदस्यों द्वारा रवि प्रताप सिंह, जयकुमार रुसवा, दयाशंकर मिश्र और अनिल ओझा नीरद को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम सरस्वती वंदना से शुरू हुई जिसे रूपम महतो ने बंदना गाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। हास्य व्यंग के कवि अवधेश मिश्रा सबरंग ने बेहतरीन काव्य पाठ किया। वही रंजीत भारती ने अपनी गजलों से शमा बांध दी। गीत ऋषि चंद्रिका प्रसाद पांडे अनुरागी के गीतों के लोग कायल हो गए। जीवन सिंह ने भोजपुरी गीत में शहर के बीच गांव को समेट लिया। नंदू बिहारी इतिहास के पन्नों में लेकर के गए और खूबसूरत सा गीत गाया। वहीं सरिता तिवारी ने सावन पर बाबा शिव की आराधना अपने गीत के माध्यम से की। आदित्य त्रिपाठी आज के परिपेक्ष में कविता सुनाई।

इस खूबसूरत से कार्यक्रम में शब्दाक्षर पश्चिम बंगाल हुगली जिला इकाई के अध्यक्ष का भी चयन हुआ जिसमें श्री प्रकाश गुप्ता को यह पदभार दिया गया। श्रोता वृंद में श्री प्रकाश सिंह, कमलेश सिंह, संजय कुमार सिंह, राधेश्याम सिंह, बिपिन झा, शंभू सेठ, डॉ. उदय सिंह, राणा प्रताप सिंह, सुजीत पांडे, पंकज दे, नवीन पाठक, श्रेया सिंह, आरोही झा, अंशिका, अनविषा, रंग बहादुर सिंह, नवल सिंह, कृष्ण देव शुक्ला, जी.के. ओझा, अमर पटेल, सुबोध सिंह, ओम प्रकाश चौधरी, शंभू पांडे, सत्यदेव शुक्ला आदि मौजूद थे। कवियों के साथ-साथ श्रोताओं में भी हर्ष और उल्लास देखने को मिला।4584c728-57a4-4ada-9a86-e1a63fb0ea76

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight + 6 =