चेन्नई। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ब्रिटेन स्थित वन वेब के 36 उपग्रहों को एक साथ प्रक्षेपित करेगा। इसरो के सूत्रों ने बताया कि उपग्रह की अनिवार्य जांच आदि का काम पूरा होने के बाद प्रक्षेपण की तारीख शीघ्र ही घोषित की जायेगी। इस व्यावसायिक प्रक्षेपण के लिए इसरो अपने घरेलू भारी रॉकेट जीएसएलवी एमकेआई तीन का उपयोग करेगा और इन्हे श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से छोड़ा जायेगा। वन वेब ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक बयान में कहा कि सभी 36 सैटेलाइट मंगलवार को श्रीहरिकोटा के स्पेसपोर्ट पहुंच गये।

वैश्विक स्तर पर परिवर्तनकारी सम्पर्क देने की दृष्टि के साथ यह प्रक्षेपण वन वेब के लिए महत्वपूर्ण क्षण होने के साथ साथ अगले साल वैश्विक कवरेज देने की दिशा महत्वपूर्ण कदम होगा। सैटेलाइट कम्युनिकेशन उद्योग में वनवेब ने प्रमुख भागीदारों के साथ अपना प्रक्षेपण कार्यक्रम फिर से शुरू किया और कंपनी की सेवाएं पहले से ही अलास्का, कनाडा, यूके और आर्कटिक क्षेत्र में उपलब्ध है।

वनवेब में भारत का भारती एंटरप्राइजेज, एक प्रमुख निवेशक और शेयरधारक है। वनवेब ने इस साल ह्यूजेस कम्युनिकेशंस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एचसीआईपीएल)के साथ एक वितरण साझेदारी की घोषणा की थी। बयान में कहा गया कि वनवेब कस्बों, गांवों और दूर दराज के दुर्गम इलाकों जोड़ेगा। इस प्रकार कम्पनी भारत भर में डिजिटल विभाजन को पाटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 5 =