इस्कॉन कोलकाता उपाध्यक्ष ने की ढाका में मंदिर पर हमले की निंदा, सुरक्षा की रखी मांग

कोलकाता। बांग्लादेश के ढाका में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में गुरुवार को हिंसक भीड़ ने इस्कॉन राधाकांत मंदिर में कथित रूप से तोड़फोड़ की और लूटपाट की। इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इस्कॉन कोलकाता के उपाध्यक्ष राधा रमण दास ने घटना की निंदा की और बताया कि बांग्लादेश सरकार ने मंदिर के सामने 12 पुलिसकर्मियों को तैनात किया है। हालांकि उन्होंने फिर भी चिंता व्यक्त की और कहा कि भक्तों के पास सवाल है कि वे पुलिस सुरक्षा के तहत अपनी गतिविधियों को कब तक जारी रख सकते हैं।

राधारमण दास ने कहा- “यह कोई सामान्य स्थिति नहीं है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस्कॉन मंदिरों और अल्पसंख्यकों पर हमले थम नहीं रहे हैं। 2015, 2016 में, हमारे दो भक्तों का सिर काट दिया गया था और पिछले साल दुर्गा पूजा के दौरान दो और भक्तों की हत्या कर दी गई थी। कई घरों को जला दिया गया और लूट लिया गया, महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया गया और हजारों लोग हिंसा के दौरान घायल हो गए। जिम्मेदार लोगों को न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए “।

“संयुक्त राष्ट्र सहित विश्व सरकारों को बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ते हमलों के मुद्दे का समाधान करना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने यह भी मांग की है कि बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दी जानी चाहिए।” उन्होंने आगे कहा कि बांग्लादेश में लोगों को अपने धर्म का पालन करने का पूरा अधिकार है। साथ ही कहा “भारत सरकार पहले ही भारतीय दूतावास को इस मामले को उठाने का निर्देश दे चुकी है। हम प्रगति पर नजर रख रहे हैं।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 − 4 =