IPL-13 : हैदराबाद प्लेऑफ की दौड़ में लौटा, दिल्ली का इंतजार कायम

दुबई : दिल्ली कैपिटल्स का प्लेऑफ का इंतजार लम्बा होता जा रहा है। सनराइजर्स हैदराबाद ने मंगलवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए मैच में दिल्ली को 88 रनों से हरा दिया। दिल्ली की यह लगातार तीसरी हार है। इसी के साथ हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन के प्लेऑफ में क्वालीफाई करने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा और दिल्ली के इंतजार को बढ़ा दिया। दिल्ली को क्वालीफाई करने के लिए सिर्फ एक मैच में जीत चाहिए।

इस मैच में हैदराबाद के बल्लेबाजों ने इस सीजन का अब तक का अपना सर्वश्रेष्ठ प्र्दशन करते हुए विशाल स्कोर खड़ा किया। रिद्धिमान साहा (87 रन, 45 गेंदें, 12 चौके, 2 छक्के) और कप्तान डेविड वार्नर (66 रन, 34 गेंदें, 8 चौके, 2 छक्के) की बेहतरीन पारियों के दम पर 2016 की विजेता ने 20 ओवरों में दो विकेट खोकर 219 रन बनाए।

दिल्ली की जिस तरह की बल्लेबाजी है उसे देखकर उम्मीद की जा सकती थी कि वह इस लक्ष्य को हासिल कर सकती है, लेकिन बल्लेबाजों के बाद हैदराबाद के गेंदबाजों ने दिल्ली की नाक में दम किया। दिल्ली 19 ओवरों में 131 रनों पर ऑल आउट हो गई। हैदराबाद के लिए राशिद खान ने चार ओवर में सात रन देकर तीन विकेट चटकाए।

पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को शिखर धवन से उम्मीदें थीं, लेकिन संदीप शर्मा ने उन्हें पहले ही ओवर की तीसरी गेंद पर आउट कर दिया। धवन इस मैच में खाता भी नहीं खोल पाए। अभी तक निचले क्रम की जिम्मेदारी संभालते आ रहे मार्कस स्टोयनिस (5) को इस मैच में तीन नंबर पर भेजा गया। शाहबाज नदीम की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने गए स्टोयनिस, वार्नर के हाथों लपके गए।

फिर आए राशिद खान ने अपना काम किया और शिमरन हेटमायेर (16), अजिंक्य रहाणे (26) के विकेट चटका दिल्ली को बेहद खराब स्थिति में डाल दिया। यहां दिल्ली का स्कोर 55/4 था। कप्तान श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत की जोड़ी क्रीज पर थी और इन्हीं दोनों के दम पर टीम की जीत का दारोमदार था, लेकिन विजय शंकर ने अय्यर को आउट कर दिया। अय्यर सात रन ही बना पाए।

राशिद ने फिर अक्षर पटेल (1) को आउट कर दिल्ली का छठा विकेट गिरा दिया। कैगिसो रबादा (3) को टी.नटराजन ने बोल्ड किया। पंत को संदीप शर्मा ने आउट कर दिल्ली की थोड़ी बहुत उम्मीदों को भी खत्म कर दिया। पंत ने 36 रन बनाए। रविचंद्रन अश्विन ने (7) और एनरिक नॉर्खिया (1) नौवें और 10वें विकेट के रूप में आउट हुए। तुषार देशपांडे 20 रन बनाकर नाबाद रहे।

हैदराबाद के बल्लेबाजों से इस मैच में वो बल्लेबाजी देखने को मिली जिसकी अभी तक इस सीजन में उनसे किसी ने उम्मीद नहीं की थी, तब तो बिल्कुल नहीं जब जॉनी बेयरस्टो जैसा बल्लेबाज बाहर हो। उनकी जगह आए साहा ने हालांकि बेयरस्टो की कमी खलने नहीं दी और उन्हीं के अंदाज में तूफानी बल्लेबाजी की। कप्तान वार्नर के साथ मिलकर साहा ने टीम को आक्रामक शुरूआत दिलाई।

दिल्ली के मजबूत गेंदबाजी क्रम को चाहे रबादा हों, नॉर्खिया, रविचनद्रन अश्विन हों चाहे कोई और, इन दोनों ने सभी पर कड़े प्रहार किए। पहले विकेट के लिए इस जोड़ी ने 107 रन जोड़े वो भी 10 ओवर से पहले। 10वें ओवर की चौथी गेंद पर अश्विन ने वार्नर को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा।

साहा लेकिन रुके नहीं। उन्होंने पूरी कसर निकाली और मनीष पांडे (नाबाद 44) उनके साथ-साथ चले। इन दोनों ने 63 रन जोड़े। साहा शतक पूरा नहीं कर सके। नॉर्खिया ने अय्यर के हाथों कैच करा साहा की पारी का अंत 15वें ओवर में कर दिया। मनीष ने फिर तेजी दिखाई और केन विलियम्सन ने स्ट्राइक रोटेट करने का काम किया। मनीष ने नाबाद 44 रन बनाए। विलियम्सन ने नाबाद 11 रन बना टीम को विशाल स्कोर दिया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 12 =