अंतर्राष्ट्रीय आभासी संगोष्ठी रचना दर्शन मंच पर संपन्न हुआ

उज्जैन। रचना दर्शन मंच द्वारा भव्य एवं शानदार आयोजित गुरु पूर्णिमा विषय में अंतरराष्ट्रीय आभासी संगोष्ठी रचना दर्शन मंच के संस्थापक रजनी प्रभा द्वारा आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में सरस्वती वंदना डॉ. कृष्ण मूर्ति मणि श्री मैसूर कर्नाटक द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम का सुंदर संचालन डॉ. रजनी शर्मा चंदा साहित्य मंच रांची की प्रभारी संस्कार भारती साहित्य संयोजक द्वारा किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में डॉ. विनय कुमार पाठक पूर्व अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज भाषा आयोग, विशेष अतिथि ने रजनी प्रभा द्वारा साहित्यिक सेवा की भूरि-भूरि प्रशंसा की गई और गुरु पूर्णिमा विषय में अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया गया।

प्रो. एस.पी. गर्ग, मोनिटरिंग गाइडेंस पेटर्न एंड फाउंडर न्यू एज लीडरशिप सक्सेस सेटल ईन शिकागो यू एस, राजेन्द्र आर्य संयोजक रचना दर्शन मंच, रजनीकांत गिरि मिडिया प्रभारी रचना दर्शन मंच, विशिष्ट अतिथि डॉ. मुक्ता कान्हा कौशिक सह प्राध्यापक ग्रेसियस कोलेज ऑफ एजुकेशन रायपुर छत्तीसगढ़, सभा अध्यक्ष के रूप में डॉ. प्रभु चौधरी राष्ट्रीय देव चेतना परिषद और डॉ. गुलाब चंद पटेल अध्यक्ष गांधी नगर साहित्य सेवा संस्था गुजरात उपस्थित थे। इन्होंने स्वागत भाषण संक्षिप्त मे दिया। रचना दर्शन मंच की संस्थापिका रजनी प्रभा ने स्वागत भाषण बहुत ही सुंदर ढंग से प्रस्तुत किया गया। विशेष अतिथि प्रो. एस.पी. गर्ग ने शिकागो में स्वामी विवेकानंद जी मेमोरियल होल के बारे में जानकारी दी गई।

विशिष्ट अतिथि डॉ. मुक्ता कान्हा कौशिक सह प्राध्यापक ने गुरु पूर्णिमा के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई । सभा अध्यक्ष के रूप में डॉ. प्रभु चौधरी उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में कुल मिलाकर कवियों ने अपनी काव्य प्रस्तुति दी, जिसमें राजेंद्र आर्य और डॉ. गुलाब चंद पटेल ने अपना काव्य पाठ गुरु जी के लिए प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम के अंत में आभार प्रकट राजेंद्र आर्य संयोजक रचना दर्शन द्वारा किया गया। काव्य पाठ हेतु सभी महानुभावों ने काव्य पाठ किया।दिवाकर पाठक, हजारीबाग; प्रियंका साव, पश्चिम बंगाल; डॉ. गुलाबचंद पटेल, गुजरात; प्रतिभा कुमारी पराशर, बिहार; ईशु कुमार ’उपदेश’, पटना;
कुलदीप सिंह रुहेला, उतर प्रदेश; रजनी शर्मा ’चंदा’ रांची; प्रियंका सोनी ’प्रीत’, जलगां; लेखिका प्रेरणा बुड़ाकोटी, नई दिल्ली; शरीफ ख़ान, रावतभाटा कोटा राजस्थान; रजनीकांत गिरि पटना, बिहार; राजेंद्र आर्य, महेंद्रगढ़, हरियाणा।

डॉ. मीना कुमारी परिहार, पटना, बिहार; बृजमोहन श्रीवास्तव “साथी” डबरा, ग्वालियर, म.प्र.; अनुभव छाजेड़, पटना सिटी; रजनी प्रभा, बिहार; डॉ. अणिमा श्रीवास्तव, पटना; डॉ. प्रतिभा पांडे, चेन्नई; अमुल कुमार, जहानाबाद; संगीता मिश्रा, पटना; शायर/कवि नवेद रज़ा दुर्गवी, दुर्ग छत्तीसगढ़; डॉ. अरविन्द राजपूत, नजीबाबाद, बिजनौर, उत्तर प्रदेश; संध्या निगम झांसी, उत्तर प्रदेश; डॉ. कनक लता, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश; संध्या सिंह, पुणे; महेश शुक्ल ’कृशांग’,गोण्डा, उत्तर प्रदेश; महावीर प्रसाद वैष्णव, सीकर, राजस्थान; बेताब दिलशाद, यूपी; सुचिका श्रीवास्तव, बिहार; अनिल यादव आदि सभी महानुभावों ने काव्य पाठ किया। कार्यक्रम की जानकारी रचना दर्शन मंच के मीडिया प्रभारी रजनीकांत गिरि ने दी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *