यूक्रेन की स्थिति पर भारत की नजर , भारतीयों की सुरक्षा पर है फोकस

नयी दिल्ली। भारत यूक्रेन में तेजी से बदलते घटनाक्रमों पर बारीकी से नजर रखे हुए है तथा वहां मौजूद भारतीयों, विशेष रूप से छात्रों की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक विदेश मंत्रालय के कंट्रोल रूम का विस्तार किया गया है और यहां चौबीसों घंटे सेवाएं चालू हैं। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा रूस के डोनबास क्षेत्र में विशेष सैन्य अभियान की मंजूरी दिए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत ने तत्काल तनाव को कम करने तथा स्थिति से संबंधित सभी मुद्दों को हल करने के लिए निरंतर और केंद्रित कूटनीति पर जोर देने का आह्वान किया है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक आपात बैठक को संबोधित करते हुए जारी घटनाक्रमों पर गहरी चिंता व्यक्त की और कहा कि यदि स्थिति को संभाला नहीं गया, तो क्षेत्र की शांति और सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है। उन्होंने कहा कि छात्रों सहित 20,000 से अधिक भारतीय नागरिक सीमावर्ती क्षेत्रों सहित यूक्रेन के विभिन्न हिस्सों में स्थित हैं।

भारत आवश्यकतानुसार भारतीय छात्रों सहित सभी भारतीय नागरिकों की वापसी की सुविधा प्रदान कर रहा है। तिरुमूर्ति ने कहा कि संबंधित पक्षों के बीच निरंतर राजनयिक बातचीत से ही कोई समाधान संभव है। उन्होंने कहा, ‘ हम अत्यधिक संयम बरतते हुए सभी पक्षों के लिए अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा बनाए रखने की महत्वपूर्ण आवश्यकता पर जोर देते हैं।’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − seven =