भारत ने न्यूज़ीलैंड को 372 रन से पीटा, घर में लगातार 14वीं सीरीज जीत

मुंबई। ऑफ स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और जयंत यादव के चार-चार विकेटों की बदौलत भारत ने न्यूज़ीलैंड को दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन सुबह के सत्र में 167 रन पर ढेर कर 372 रन से विशाल जीत हासिल की और दो मैचों की सीरीज को 1-0 से जीत लिया। भारत की यह लगातार 14 वीं घरेलू सीरीज जीत है । यह रनों के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जीत भी है। आधी टीम कल ही पवेलियन लौट गई थी, जबकि आ‍धी टीम ने आज पहले सत्र में ही घुटने टेक दिए।

यह मैच एजाज पटेल के लिए याद रखा जाएगा, जिन्‍होंने पहली पारी में 10 विकेट निकालकर इतिहास के पन्‍नों में अपना नाम लिखवा लिया था। दूसरी ओर, मयंक अग्रवाल जिन्‍होंने पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाया। आज चार विकेट जयंत यादव ने चटकाए। वहीं अश्विन ने पारी का आखिरी विकेट लिया, जो उनका घरेलू जमीन पर 300वां टेस्‍ट विकेट रहा।

नए लड़कों को मौके भुनाता देखना अच्छा लगता है: द्रविड़ :  भारतीय टीम के प्रमुख कोच राहुल द्रविड़ ने दूसरा टेस्ट 372 रन से जीतने के बाद कहा कि सीरीज को इस तरह से खत्म करना अच्छा रहता है। कानपुर का मैच काफी नजदीकी रहा। यह एक तरफा मैच रहा है, हम 372 रनों से मैच जरूर जीते हैं, लेकिन इसके लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी है। नए लड़कों को आकर मौके भुनाता देखना अच्छा रहता है।

द्रविड़ ने मैच के बाद कहा,’आप चाहे आज जयंत यादव को देख लीजिए, आज उन्होंने बहुत बेहतर किया। श्रेयस, मयंक ने बल्ले से अच्छा किया है और सिराज ने पहली पारी में जिस तरह से गेंदबाजी की, आप अक्षर को देखिए पूरी सीरीज में उन्होंने जिस तरह की गेंदबाजी की। हमारे पास गहराई है और इसको देखकर अच्छा लगता है। इसी तरह से सर्वश्रेष्ठ टीम बना जा सकता है। फॉलोआन के बारे में नहीं सोच रहे थे।

हम युवा बल्लेबाजों को मौका देना चाहते थे, लेकिन वह ऐसी स्थिति में खेलें। ऐसे विकेट पर जहां पर लाल मिटटी है, बॉल टर्न होती है, बाउंस होती है। टिम साउदी और जेमीसन ने शॉर्ट बॉल की थी, वे खेलने में कामयाब रहे। हम ऐसी परिस्थिति में खुद को खिलाना चाहते थे जिससे कि वह अपने आप को आजमा सकें। यह बहुत अच्छी स्थिति है।

निराशाजनक प्रदर्शन रहा: लेथम : न्यूज़ीलैंड के कप्तान टॉम लेथम ने दूसरा टेस्ट  हारने और सीरीज को 0-1 से गंवाने के बाद अपनी टीम के प्रदर्शन को निराशाजनक बताया। लेथम ने मैच के बाद सोमवार को कहा,” निराशाजनक प्रदर्शन। पता था कि इन परिस्थतियों में यह कठिन होगा। 60 रन पर आउट होने से आप मैच में पीछे हो जाते हो। यदि आप भारत आते हैं, तो आप शायद पहले बल्लेबाजी करना चाहेंगे।

पहली पारी में गेंदबाजों ने जिस तरह से मेहनत की वह शानदार थी। यह बिल्कुल वैसा नहीं था जैसा हम चाहते थे। एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर इतिहास में अपना नाम लिखवाया और इसका हिस्सा बनना खास है, हम एजाज के साथ जश्न मनाएंगे। हम घर जाएंगे, क्वारंटीन करेंगे और फिर बांग्लादेश के खिलाफ कुछ टेस्ट खेलने हैं। घर पहुंचने और फिर उस सीरीज की तैयारी के लिए उत्सुक हूं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × one =