बंगाल में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अत्याचार को लेकर पुलिस अफसरों पर गिरी गाज

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में महिलाओं के खिलाफ लगातार बढ़ते अत्याचार, दुष्कर्म के मामले और कानून-व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के आरोपों के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी की सरकार अब एक्शन में है। 2 मई को ममता बनर्जी की सरकार के एक साल पूरे होने के पहले आयोजित समीक्षा बैठक के पहले 17 आला पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। इनमें विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षक शामिल हैं, जिन जिलों के पुलिस अधीक्षकों (SP) का तबादला किया गया है, उनमें मालदा, बरुईपुर पुलिस जिला, डायमंड हार्बर पुलिस जिला, रानाघाट पुलिस जिला, बांकुड़ा पुलिस जिला सहित अन्य शामिल हैं।

बता दें कि रानाघाट नदिया में हांसखाली में रेप का मामला काफी सुर्खियों बंटोरी थी। बता दें कि हांसखाली, मयनागुड़ी, शांतिनिकेतन सहित कई इलाकों में महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं घटी थी। इस मामले में हाईकोर्ट ने हस्तक्षेप करते हुए कई मामलों में सीबीआी जांच का आदेश दिया है। नदिया जिले के राणाघाट में हांसखाली रेप मामला की जांच फिलहाल सीबीआई कर रही है। इस घटना के बाद टीएमसी के नेताओं पर आरोप लगे थे। अब नदिया के पुलिस अधीक्षक सायक दास का आईआईडी में तबादला कर दिया गया है, जबकि अभिजीत बनर्जी को राणाघाट का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है।

मालदा सहित कई जिलों के एसपी का भी तबादला कर दिया गया है। मालदा के एसपी अमिताभ माइति को एसएस, आईबी में तबादला कर दिया गया है। बरुईपुर के एसपी आईपीएस वैभव तिवारी का तबादला बांकुड़ा के एसपी के पद पर किया गया है। डायमंड हार्बर के एसपी आईपीएस अभिजीत दास को कूचबिहार के एसपी के रूप में कर दिया गया है। धृतिमान सरकार, आईपीएस का बांकुड़ा के एसपी से दक्षिण 24 परगना के एसपी के रूप में किया गया है। बता दें कि ये वे जिले में जिनमें हाल में कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल उठे थे और महिलाओं पर अत्याचार की शिकायतें मिली थीं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × one =