कोलकाता। कोलकाता में बीजेपी के नवान्न अभियान को लेकर तृणमूल कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रया में अब महुआ मोइत्रा की भी इंट्री हो गई है। बीजेपी के नवान्न अभियान में जहां पुलिस ने लाठीचार्ज कर बीजेपी समर्थकों को पीटा है तो वहीं कुछ लोगों ने पुलिस की एक गाड़ी को आग लगा दी थी। गाड़ी में आग लगाने का वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो आने के बाद सांसद महुआ मोइत्रा ने प्रदेश बीजेपी पर जमकर तंज कसा है। महुआ मोइत्रा ने कहा कि बीजेपी ने नवान्न अभियान में जो किया है वो सभी लोगों को दिख रहा है पर हिंसा की इस घटना के बाद अगर हिंसा करने वाले समर्थकों का घर तोड़ा जाए या उनके घरों पर बुलडोजर चलाया जाया तो कैसा लगेगा?

यह वो पार्टी है जो अपनी ही नीतियों पर खरी नहीं उतरती है। महुआ मोइत्रा ने यह भी कहा कि यह हिंसा बीजेपी की शिक्षा का पहला पाठ है। इ्समें वो बताते हैं कि किस तरह पुलिस की गाड़ी में आग लगाई जाती है। बीजेपी ऐसी ही शिक्षा देती है। कल जो भी बंगाल में हुआ वह सावर्जनिक है। क्या हम भी अगर यूपी की भोगी (योगी सरकार) सा काम करने लगे तो …कैसा लगेगा ? तो क्या बीजेपी हिंसा करने वालों को सजा देने में हमारा समर्थन करेगी?

मालूम हो कि बीजेपी पर लाठीचार्ज को लेकर एक कलकत्ता हाईकोर्ट में एक याचिका दायर हुई है। इस पर कोर्ट ने राज्य से जवाब मांगा है। बीजेपी नेतृत्व का आरोप है कि पुलिस ने शान्तिपूर्ण रैली पर लाठियां बरसाई हैं। कलकत्ता उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के गृह सचिव से इस आरोप पर रिपोर्ट मांगी कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थकों को उनके ‘नबन्ना मार्च’ कार्यक्रम में शामिल होने से ‘बलपूर्वक’ रोका गया।

मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव और न्यायमूर्ति आर. भारद्वाज की खंडपीठ ने राज्य सरकार को कोलकाता में भाजपा के राज्य मुख्यालय की सुरक्षा सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया।पीठ ने राज्य के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि कोई अनावश्यक गिरफ्तारी न हो और रैली के सिलसिले में किसी व्यक्ति को अनावश्यक रूप से हिरासत में न लिया जाए। अदालत ने राज्य के गृह सचिव को बीजेपी द्वारा लगाए गए उन आरोपों पर 19 सितंबर तक रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − twelve =