हीरा रत्न मन मर्जी शौक़ से पहनना होगा हानिकारक ज्योतिष परामर्श अनिवार्य

वाराणसी । हीरा अधिकतर लोगों की पसंद होता है। कई लोग इसे शौक के तौर पर पहनते हैं। लेकिन रत्न ज्योतिष अनुसार हीरा ऐसे ही नहीं पहनना चाहिए क्योंकि ये मालामाल भी कर सकता है तो वहीं कंगाल भी। ये जरूरी नहीं की हीरा हर किसी को सूट कर जाए। कुछ विशेष परिस्थितियों में ही इस रत्न को ज्योतिषीय सलाह से पहना जाता है। जानिए हीरा किसे धारण करना चाहिए और किसे नहीं।

हीरा रत्न के फायदे :
हीरे को अंग्रेजी में डायमंड कहते हैं। इसे पहनने से यश और प्रतिष्ठा प्राप्त होती है। मधुमेह और नेत्र रोग के लिए भी ये लाभदायक रहता है। इसे पहनने से व्यक्ति की भाग्य में वृद्धि होने की मान्यता है। हीरा शुक्र ग्रह का रत्न है इसलिए इसे पहनने से कुंडली में शुक्र की स्थिति मजबूत होती है। हीरा अगर सूट कर जाए तो व्यक्ति को लाइफ में सारी सुख सुविधाएं मिलती हैं। कला, फिल्म और संगीत के क्षेत्र में इसे पहनने से अपार सफलता हासिल होती हैं।

हीरा पहनने के नुकसान और सावधानियां :
हीरा आपकी राशि के विपरीत हो तो ये आपकी मुश्किलें बढ़ा देता है। बिना ज्योतिष सलाह के इसे न ही पहनें तो बेहतर होगा। दाग लगा या टूटा हुआ हीरा दुर्घटना की वजह बन सकता है। ध्यान रखें कि हीरे के साथ मूंगा या गोमेद न पहनें। शुक्र यदि किसी अशुभ भाव में स्थित हो तो हीरा आपके जीवन के लिए घातक होता है। इसके प्रभाव से बीमारियां, रिश्तों में दरार या अलगाव की स्थिति भी हो सकती है। जिन लोगों का मेष, सिंह, वृश्चिक, धनु व मीन लग्न है, उन्हें हीरा नहीं पहनना चाहिए। आध्यात्मिक पेशे से जुड़े हुए लोगों को भी हीरा धारण नहीं करना चाहिए। हीरे के साथ पुखराज, लहसुनिया व पन्ना नहीं पहनना चाहिए।

manoj jpg
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे
ज्योतिर्विद वास्तु दैवज्ञ
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री
मो.9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × one =