डेंगू की रोकथाम के लिए जलाशयों में छोड़ी गई गप्पी मछलियां

सिलीगुड़ी। डेंगू से बचाव के लिए ब्लॉक प्रशासन द्वारा विभिन्न नहरों और जलाशयों से गप्पी मछलियां छोड़ी गईं। इन मछलियों को सिलीगुड़ी महकमा परिषद के तहत फांसीदेवा ब्लॉक के विभिन्न बाजार गांवों में छोड़ा गया। फांसीदेवा बीडीओ संजू गुहा मजूमदार, पंचायत समिति अध्यक्ष रीना एक्का, ब्लॉक स्वास्थ्य अधिकारी अरुणब दास उपस्थित थे।

सहायक प्रशासनिक अधिकारी बीडीओ संजू गुहा मजूमदार ने पत्रकारों को बताया कि महकमा परिषद से ब्लॉक प्रशासन को लगभग दो लाख गप्पी मछली दिए गए हैं। हमारे वीआरपी ने उन सभी नहरों और जलाशयों की पहचान की है डेंगू होने की संभावना है और आज उन जगहों से गप्पी मछलियाँ छोड़ी गई हैं। इन मछलियों के जीवित रहने से आने वाले दिनों में डेंगू के प्रकोप को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

सिलीगुड़ी में प्रतिबंधित कप सिरप के साथ एक गिरफ्तार

सिलीगुड़ी। भारत-नेपाल सीमा के पानीटंकी के गोरसिंग ज़ोत, इलाके में प्रतिबंधित कप सिरप के साथ 1 व्यक्ति गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान गौरसिंग जोत निवासी उत्पल दास (26) के रूप में की गई है। जानकारी मिली है कि वह रानीगंज बिन्नागुड़ी मंडल भाजपा उपाध्यक्ष दिलीप महंत का भतीजा है। मालूम हो कि खोरीबाड़ी थाने की पुलिस ने गुप्त सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर सोमवार की रात गिरफ्तार व्यक्ति के गोदाम पर छापेमारी की थी।

जिसके बाद गोदाम से 41 कप सिरप और करीब 1 लाख 20 हजार भारतीय रुपये के साथ 4 हजार 300 नेपाली रुपये बरामद किये गये। बाद में आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर खोरीबाड़ी थाने ले जाया गया। उल्लेखनीय है कि आरोपी उप्पल दास को ड्रग डीलिंग के आरोप में पहले भी कई बार गिरफ्तार किया गया था। खोरीबाड़ी थाने की पुलिस पूरी घटना की जांच में जुट गयी है। आरोपी को आज सिलीगुड़ी महकमा अदालत में पेश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *