युग पुरुष स्वामी विवेकानन्द जी की जयंती पर राष्ट्रीय कवि संगम पश्चिम बंगाल द्वारा भव्य कार्यक्रम का आयोजन

स्वामी जी ने अपने विचारों को अपने व्यक्तित्व एवं कृतित्व के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया–डॉ.अशोक बत्रा

विवेकानंद सदियों में पैदा होते हैं– डॉ. गिरिधर राय

कोलकाता : युग पुरुष स्वामी विवेकानन्द जी कि जयंती पर राष्ट्रीय कवि संगम पश्चिम बंगाल की उत्तर कोलकाता इकाई द्वारा भव्य काव्य संध्या का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय जगदीश मित्तल जी ने की। प्रान्तीय अध्यक्ष प्रख्यात हास्य कवि – डॉ. गिरिधर राय जी ने पटल पर उपस्थित राष्ट्रीय अध्यक्ष, महामंत्री, सह महामंत्री, प्रान्तीय प्रभारी सह राष्ट्रीय मंत्री, रचनाकारों, कार्यकर्ताओं और श्रोताओं का हार्दिक अभिनंदन के साथ स्वागत करते हुए तहे – दिल से खुशी जाहिर की। युवा गीतकार आलोक चौधरी की मधुर सरस्वती वंदना के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अशोक बत्रा जी ने विवेकानंद पर अपने काव्य पाठ और ज्ञानवर्द्धक वक्तव्य से कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिये।

राष्ट्रीय सह महामंत्री महेश शर्मा ने स्वामी जी के छत्तीस गढ़ के पृष्ठभूमि पर अनमोल प्रकाश डालते हुए ऐसे कार्यकर्म करते रहने के लिये जोर दिये। देवेश मिश्र, हिमाद्रि मिश्रा, सुषमा राय पटेल, कामायनी संजय, बलवंत सिंह गौतम और “पुकार” गाजीपुरी ने स्वामी विवेकानंद से संबधित एक से बढ़कर एक प्रस्तुति देकर पटल पर उपस्थित श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। कवि गोष्ठी का कुशल संचालन कामयानी संजय ने किया। प्रान्तीय प्रभारी दिनेश देवघरिया और प्रान्तीय अध्यक्ष डॉ. गिरिधर राय ने अपने उम्दा काव्य पाठ से काव्यगोष्ठी को गौरवांवित करने के साथ-साथ श्रोताओं की वाह-वाही भी लूटी। अध्यक्षीय वक्तव्य में मित्तल जी ने सभी रचनाकारों और संस्था के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का भूरि-भूरि प्रशंसा की।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने में मल्लिका रुद्रा, अरुण प्रकाश मल्लावत, डॉ. सत्य प्रकाश तिवारी, राज कुमार राय और रामाकान्त सिन्हा का विशेष सहयोग रहा। इस अवसर पर रीना पाण्डेय, विष्णु प्रिया त्रिवेदी, सुदामी यादव, राजेन्द्र कानूनगो, मनोरमा झा, रास बिहारी गिरि, नंदू बिहारी झा, कृष्ण कुमार दूबे, आदित्य त्रिपाठी, अनन्या राय, रंजन मिश्रा, सीमा सिंह, सरिता सिंह, अंकिता संजय, नीलाक्षी दत्त और अंकित साव सहित अनेक प्रमुख रचनाकार एवं सुधि जन उपस्थित थे। अंत में कार्यक्रम के मार्गदर्शक डॉ. राय ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये पटल पर उपस्थित सभी सुधि जनों का हार्दिक आभार जताते हुए धन्यवाद ज्ञापन किया। इसी के साथ ही यह भव्य कार्यक्रम सुसंपन्न हुआ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 1 =