कोलकाता। पश्चिम बंगाल में इस बार सरकारी कर्मचारियों को दुर्गा पूजा के महीने में 22 दिनों की छुट्टी मिलने जा रही है। दरअसल बीते दो सालों से कोविड प्रोटोकाल के चलते पूजा का आयोजन पहले की तरह नहीं हो पा रहा था। दुर्गा पूजा की वापसी का संकेत देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को इन छुट्टियों की घोषणा की। ममता ने कहा कि राज्य के सरकारी कार्यालय 30 सितंबर (पंचमी) से 10 अक्टूबर ( लक्ष्मी पूजा के एक दिन बाद) तक 11 दिनों के लिए बंद रहेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक पूजा का आयोजन करने वाली समितियों को पिछले साल मिले 50,000 रुपये से बढ़कर 60,000 रुपये का सरकारी अनुदान मिलने जा रहा है।

पिछले साल राज्य सरकार के कर्मचारियों ने दुर्गा पूजा माह में 16 दिनों की छुट्टियों का आनंद लिया था। ममता बनर्जी की 11 दिनों की छुट्टी की घोषणा के बाद इस साल यह संख्या बढ़कर 22 हो गई है। यानी कि सितंबर के आखिरी दिन षष्ठी और अक्टूबर में अन्य छुट्टियां जैसे- काली पूजा, दिवाली, भाई फोन्टा और छठ पूजा को जोड़ दिया जाए तो।

वहीं मिलने वाले सरकारी अनुदान में 20% की वृद्धि के अलावा, बंगाल के 40,092 पंजीकृत दुर्गा पूजा आयोजकों को भी बिजली की खपत पर पिछले साल के 50% से 60% की छूट मिलने की संभावना है। राज्य सरकार का कहना है कि वह कुल अनुदान पर खर्च करेगी, जो कि 240 करोड़ रुपये से भी ज्यादा हो जाएगा। अगर सभी पंजीकृत पूजा आयोजक इसे प्राप्त करने के योग्य हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 5 =