कोलकाता। भीषण गर्मी से परेशान बंगाल के लोगों के लिए अच्छी खबर है। अगले पांच दिनों में पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है, जबकि दक्षिणी जिलों में बिजली के साथ भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। वहीं, मानसून के समय पर आगमन के बाद बिहार के उत्तर भाग में इसका असर दिखने लगा है। बुधवार और गुरुवार को राज्य के अन्य हिस्सों में इसके प्रसार के आसार हैं। मौसम विभाग ने बृहस्पतिवार तक बंगाल के दक्षिणी हिस्सों में मानसून के पहुंचने का पूर्वानुमान जताया है।

गौरतलब है कि मानसूनी हवाओं ने चार जून को ही उत्तर बंगाल में दस्तक दे दी थी जबकि अमूमन वहां सात जून को पहुंचती है यानी इस बार तीन दिन पहले ही मानसून बंगाल के उत्तरी इलाकों में पहुंच गया था। मानसून के फलस्वरुप उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में झमाझम बारिश भी हो रही है। दूसरी तरफ दक्षिण बंगाल के लोग भारी गर्मी से बेहाल हो रहे थे। मानसून आमतौर पर 11 जून को दक्षिण बंगाल में पहुंचता है लेकिन इस बार इसे इसके पहुंचने में अभी तक चार दिनों का विलंब हो चुका है लेकिन अब मौसम विभाग ने राहत वाली खबर दे दी है।

मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून के अगले दो-तीन दिनों में गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है क्योंकि इसके लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। उप-हिमालयी जिलों दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, अलीपुरद्वार, कूचबिहार और जलपाईगुड़ी में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। उत्तर बंगाल के डुआर्स क्षेत्र के कई इलाकों में मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक 24 घंटे में पर्याप्त बारिश हुई। मौसम विभाग ने कहा कि हासीमारा में सबसे अधिक 190 मिमी, डायना और कुमारग्राम में 130 मिमी और नागरकाटा में 120 मिमी बारिश दर्ज की गई।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − 3 =