पटना।  उत्तर बिहार के पहले से ही बारिश से प्रभावित इलाकों में नेपाल के नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश के कारण बाढ़ से स्थिति और खराब होने की आशंका है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) ने उत्तरी बिहार के इलाकों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों से पता चला है कि पिछले 24 घंटों के दौरान बिहार और उप हिमालयी पश्चिम बंगाल में बहुत भारी वर्षा हुई। सीडब्ल्यूसी के एक अधिकारी ने कहा, ‘नेपाल क्षेत्र में कोसी और बागमती के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश की सूचना है।

इन ट्रांसबाउंड्री नदियों में जल स्तर उत्तर बिहार में बढ़ सकता है।’ आईएमडी ने बुधवार को बिहार में और इस दिन ही उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अत्यधिक भारी बारिश की संभावना जताई है। अधिकारियों ने कहा कि अगले 24 घंटों में उत्तराखंड, उत्तर बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम के कुछ वाटरशेड और पड़ोस में मध्यम जोखिम की स्थिति बनी हुई है।

सीडब्ल्यूसी के अनुसार, बिहार के सुपौल जिले के बसुआ में कोसी नदी मंगलवार को 48.69 मीटर के स्तर पर स्थिर (0.0 मिमी/घंटा) की प्रवृत्ति के साथ गंभीर स्थिति में बह रही है। यह खतरे के स्तर 47.75 मीटर और 0.55 मीटर से 0.94 मीटर ऊपर है, लेकिन 13 अगस्त, 2017 को दर्ज किए गए 49.24 के अपने पिछले उच्च बाढ़ स्तर (एचएफएल) से नीचे है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 + five =