पुलिस के हत्थे चढ़ा फर्जी रॉ अधिकारी, राज्यपाल और चुनाव आयोग को देता था सलाह

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक और फर्जी अधिकारी गिरफ्तार हुआ है। उसका नाम मनिमय मंडल है। गुरुवार रात उसे रवींद्र सरोवर इलाके से गिरफ्तार किया गया है। कोलकाता पुलिस की खुफिया टीम ने उसे पकड़ा है। शुक्रवार लाल बाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि गिरफ्तार किया गया मनिमय मंडल मूल रूप से पेशे से चिकित्सक है।

खुद को एक आईपीएस अधिकारी के रूप में दावा करते हुए खुद को रॉ अधिकारी के तौर पर परिचय देता था। वह बीच-बीच में राज्यपाल जगदीप धनखड़ तथा चुनाव आयोग को पत्र लिखकर सलाह भी दिया करता था। राजभवन को संदेह हुआ था जिसके बाद कोलकाता पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई थी।

कोलकाता पुलिस के एक अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि सबसे पहले राजभवन की ओर से हेयर स्ट्रीट थाने में इस बारे में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। उसके आधार पर जांच शुरू हुई और मनिमय के बारे में जानकारी मिल पाई। अब जब उसे गिरफ्तार कर लिया गया है तो उससे पूछताछ की जा रही है कि उसने यह फर्जी अधिकारी का परिचय देकर और कितनी तरह की ठगी की है। उसके खिलाफ फर्जी अधिकारी बनकर लोगों को ठगने, फर्जीवाड़ा और धोखाधड़ी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई शुरू की गई है।

उल्लेखनीय है कि इसी तरह पिछले साल कोलकाता में देवांजन विश्वास नाम के एक फर्जी अधिकारी को भी गिरफ्तार किया गया था जो खुद को कोलकाता नगर निगम का संयुक्त आयुक्त बताकर फर्जी टीकाकरण कैंप आयोजित करता था और कोरोना टीका के नाम पर हजारों लोगों को निमोनिया का इंजेक्शन लगा चुका था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 14 =