चुनाव आयोग ने बंगाल उपचुनाव में व्यापक वेबकास्टिंग का आदेश दिया

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा क्षेत्र और बालीगंज विधानसभा क्षेत्र के लिए 12 अप्रैल को होने वाले उपचुनाव में पूरी तरह से स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने के लिए चुनाव आयोग ने मतदान प्रक्रिया की व्यापक वेबकास्टिंग का आदेश दिया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) के कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडियाकर्मियों को बताया कि बालीगंज निर्वाचन क्षेत्र के मामले में 100 प्रतिशत और आसनसोल लोकसभा क्षेत्र के मामले में 51 प्रतिशत बूथों पर वेबकास्टिंग की जाएगी।

बालीगंज विधानसभा क्षेत्र में कुल 300 बूथ हैं, जबकि आसनसोल लोकसभा क्षेत्र के मामले में यह संख्या 2,102 है। अधिकारी ने कहा, बल्लीगंज में कुल 23 बूथों को संवेदनशील घोषित किया गया है। आसनसोल के मामले में चिन्हित संवेदनशील बूथों की संख्या 680 है। उनके मुताबिक, बालीगंज में जहां 40 माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे, वहीं आसनसोल के मामले में यह संख्या 442 होगी। उपचुनाव के लिए केंद्रीय सशस्त्र बलों की कुल 133 कंपनियां तैनात की जाएंगी, जिनमें से 116 कंपनियां आसनसोल के लिए आवंटित की जाएंगी और बाकी 17 कंपनियां बालीगंज भेजी जाएंगी।

तृणमूल कांग्रेस के पास बालीगंज से गायक से राजनेता बने और दो बार के भाजपा लोकसभा सदस्य बाबुल सुप्रियो हैं। पूर्व पत्रकार कीया घोष और बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह की भतीजी सायरा शाह हलीम क्रमश: भाजपा और माकपा उम्मीदवार हैं।आसनोल में तृणमूल ने बॉलीवुड स्टार शत्रुघ्न सिन्हा को मैदान में उतारा है, जबकि फैशन डिजाइनर से राजनेता बने अग्निमित्र पॉल भाजपा के उम्मीदवार हैं, जो पहले से ही आसनसोल (दक्षिण) विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के मौजूदा विधायक हैं। माकपा ने पार्थ मुखर्जी को उम्मीदवार बनाया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × four =