कोलकाता। एएलस्फेयर फाउंडेशन और एशियन लिटरेरी सोसाइटी ने 26 फरवरी, 2022 को साहित्य अकादमी, नई दिल्ली में “एबिंग इकोज़-ए इवेंट ऑन इंडिजिनस लैंग्वेजेज एंड लिटरेचर ऑफ एशिया” का आयोजन किया। समारोह की शुरुआत लेखक और एशियन लिटरेरी सोसाइटी के संस्थापक श्री मनोज कृष्णन के स्वागत भाषण से हुई। प्रख्यात उर्दू कवि और लेखक प्रोफेसर खालिद अल्वी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे जिन्होंने अपने भाषण से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर लेखिका सुश्री कोमल गुप्ता, सुश्री वंदना भसीन, सुश्री मौसमी बरुआ, सुश्री नीति परती और सुश्री अनीता चंद ने एशिया के विभिन्न क्षेत्रों की देशी भाषाओं पर लेख प्रस्तुत किए।

सुश्री रेणु हुसैन, सुश्री ममता किरण, सुश्री किरण बाबल, सुश्री लिप्पी परिदा, सुश्री मनीषा अमोल, सुश्री वंदना सक्सेना, सुश्री सतबीर चड्ढा, सुश्री पी.डी. जोनाकी, डॉ. विनीता नरूला, सुश्री शिवप्रिया, सुश्री रितु भटनागर, और डॉ. श्वेता माथुर लाल ने कई प्रसिद्ध एशियाई कवियों की कविताओं का पाठ किया। बाद में सभी प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का समापन सभी प्रतिभागियों के अभिनंदन के साथ हुआ।

एबिंग इकोज़ कार्यक्रम के माध्यम से एएलस्फेयर फाउंडेशन और एशियन लिटरेरी सोसाइटी ने प्रतिभागियों और दर्शकों को विभिन्न एशियाई भाषाओं और साहित्य से परिचित होने का अवसर दिया।एशियन लिटरेरी सोसाइटी एएलस्फेयर फाउंडेशन का एक लोकप्रिय समुदाय है जो एशियाई कला, संस्कृति, साहित्य, भाषाओं का प्रसार एवं एशिया के जनजातियों और दिव्यांगों की सेवा हेतु समर्पित है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − 2 =