बंगाल में एक महीने पहले से शुरू हो जाएगा दुर्गोत्सव, 1 सितंबर को निकलेगा जुलूस और बजेंगे शंख

कोलकाता । यूनेस्को द्वारा बंगाल की दुर्गापूजा को हेरिटेज घोषित किये जाने से उत्साहित मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंगाल में एक महीने पहले से दुर्गोत्सव शुरू करने का ऐलान किया है और इसकी तैयारियां अभी से ही शुरू हो जाएगी। 1 सितंबर को निकलेगा जुलूस और बजेंगे शंख, ममता बनर्जी ने किया ऐलान। बंगाल का प्रसिद्ध दुर्गोत्सव को यूनेस्को द्वारा ‘हेरिटेज’ का दर्जा दिया गया है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि इस साल 2022 का दुर्गा पूजा ऐसा होगा, जैसा पहले कभी नहीं हुआ था।

इस साल दुर्गोत्सव एक महीने पहले शुरू हो जाएगा। गुरुवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में आयोजित प्रशासनिक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया कि एक सितंबर को पूरे राज्य में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। दोपहर 1 बजे कोलकाता और राज्य के विभिन्न जिलों में जुलूस निकाला जाएगा। प्रदेश की महिलाएं शंख के साथ सड़कों पर उतरेंगी और शंघनाद करेंगी और उलु ध्वनि निकालेंगी। जुलूस में हर तबके के लोग शामिल होंगे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि, ”बंगाल को सम्मान देने के लिए सभी को दिखाने के लिए उसका सम्मान किया जाएगा।”

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ”हमें 1 सितंबर को एक कार्यक्रम करना है। मैं अभी से सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को बता रही हूं। दोपहर 1 बजे का समय होगा। मंत्री अरुप बिस्वास सभी दुर्गा पूजा कमेटी से बात करेंगे। कोलकाता पुलिस सभी क्लबों को आमंत्रित करेगी। डीजी पुलिस सभी जिला क्लबों को बुलाएगी। हर जिले में दोपहर 1 बजे जुलूस निकाला जाएगा। लड़कियां शंख बजाएंगी, पूरे बंगाल में उलु ध्वनि दिया जाएगा।”

ममता बनर्जी ने कहा, “यूनेस्को ने दुर्गा पूजा को सांस्कृतिक विरासत घोषित किया है। हम दोपहर 1 बजे कोलकाता के श्याम बाजार पांच माथा मोड पर एकत्रित होंगे। वहां से हम तय करेंगे कि हम जुलूस को कितनी दूर तक ले जाएंगे। पूजा कॉर्निवल में सभी राजनयिकों को आमंत्रित किया जाएगा। इस बार का पूजा कॉर्निवल अद्भूत होगा।” साथ ही उन्होंने कहा, “इस बार रेड रोड पर दुर्गा पूजा कॉर्निवल भी शानदार होगा। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘रेड रोड पर पूजा कॉर्निवल का नजारा देखने लायक होगा।

मैं 1 सितंबर के जुलूस को सफल बनाने के लिए पूजा से एक महीने पहले सड़कों पर उतरूंगी, ताकि अगर सभी लोग बंगाल को देखें और उसका सम्मान करें कि बंगाल कैसे सम्मान देता है।” ममता बनर्जी ने कहा कि दुर्गोत्सव के लिए पर्यटन विभाग, सूचना और संस्कृति विभाग के साथ मिलकर “लोगो” बनाएगा। पूरे बंगाल में हर क्लब उस ‘लोगो’ का इस्तेमाल करेंगे। मुझे सुझाव भेजें, मैं आपको बताउंगी। बंगाल को गौरवान्वित करने के लिए हमें जो कुछ भी करना है, वह करेंगे।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × one =