कोरोना वायरस की चपेट में आए आर्थोपेडिक सर्जन की मौत

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : राज्य में कोरोना वायरस की चपेट में आने से 69 वर्षीय आर्थोपेडिक सर्जन डाॅ. शिशिर मंडल का निधन हो गया। वह कोरोना से संक्रमित थे। बीते कल महानगर के साल्टलेक स्थित एक निजी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। पिछले एक सप्ताह के अंदर राज्य में यह कोरोना वायरस से दूसरे चिकित्सक की मौत है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत 14 अप्रैल को डाॅ. शिशिर मंडल को कोरोना वायरस के संदेह में साल्टलेक के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत खराब होने पर 19 अप्रैल से उन्हें वेंटिलेशन पर रखा गया था। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। पश्चिम बंगाल आर्थोपेडिक एसोसिएशन ने उनके लिए राजकीय सम्मान की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि इसके पहले बीते शनिवार को राज्य में संक्रमित एक कोरोना वारियर की मौत हो गई थी। मृतक स्वास्थ विभाग के अंतर्गत आने वाले सेंट्रल मेडिकल स्टोर का सहायक निदेशक थें। कोरोना से संक्रमित होने के बाद वह महानगर साल्टलेक स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती थें। जहां इलाज के दौरान शनिवार देर रात उनकी मौत हो गई थी। कोरोना संक्रमण के अतिरिक्त उन्हें अन्य कई स्वास्थ्य समस्याएं भी थीं।

उन्हें श्वास कष्ट सहित अन्य समस्याएं भी थी। उन्हें सबसे पहले महानगर के बेलियाघाटा आईडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद वहां से उन्हें गत 18 अप्रैल को साल्टलेक के एक निजी अस्पताल में रेफर किया गया था। उन्हें वेंटिलेशन पर रखा गया था। जहां इलाज के दौरान शनिवार रात 1.20 बजे मौत हो गई थी।

गौरतलब हो कि राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या के बढ़ने का सिलसिला जारी है। राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 572 हो गई है। अब तक राज्य में कोरोना से 33 लोगों की मौत हुई है। सोमवार को राज्य सचिवालय नवान्न से राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने इसकी पुष्टी की।

 

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × three =