पश्चिम बंगाल कॉलेज सर्विस कमीशन (WBCSC) इंटरव्यू में कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से किया जा रहा पालन : प्रो० दीपक कर

कोलकाता। राज्य के विभिन्न विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के नियमित रिक्त स्थानों को भरने के लिए पश्चिम बंगाल कॉलेज सर्विस कमीशन ( WBCSC) ने कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करते हुए इंटरव्यू शुरू कर दिया है। बता दें कि कोरोना की तीसरी आशंकाओं के बीच दो विषयों के साथ इस प्रक्रिया की शुरुआत की गई है । पश्चिम बंगाल कॉलेज सर्विस कमीशन के चेयरमैन प्रो० दीपक कर ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए इंटरव्यू 17 जनवरी को व्यापक सुरक्षा प्रबंधों के साथ शुरू हो चुका है। परीक्षा के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

इसके लिए सरकारी दिशा निर्देशों को ध्यान में रखते हुए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। केन्द्र पर मास्क, सैनिटाइजर व अन्य व्यवस्थाएं भी की गई हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल रखा जा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि 45 विषयों के 33 हजार योग्य अभ्यार्थियों को इंटरव्यू के लिए चयन किया गया है। जनवरी महीने में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 5 विषय की जगह 2 विषय (बांग्ला और अंग्रेजी) के साथ इसकी शुरुआत की गई। इस दौरान एक्सपर्ट की उपलब्धता और यातायात की सुविधा का भी खासा ध्यान रखा गया।

पिछले वर्ष प्रत्येक फेज में प्रत्येक विषय के लिए 50 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था। कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए इस बार इसकी संख्या घटाकर 40 कर दी गई। फरवरी में जियोग्राफी, केमेस्ट्री, फिजिक्स और मैथ के प्रथम फेज का इंटरव्यू शुरू हुआ है। अगले महीने में 9 और विषयों के इंटरव्यू शुरू होंगे। प्रो० कर ने बताया कि यदि किसी अभ्यर्थी के परिवार का कोई सदस्य या वह स्वयं कोरोना से पीड़ित हो तो उसके अनुरोध पर उसके साक्षात्कार की निर्धारित तिथि में परिवर्तन कर दिया जाएगा।

यदि सबकुछ ठीक रहा तो इस वर्ष दिसंबर तक यह प्रक्रिया पूरी कर लिए जाने की उम्मीद है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इंटरव्यू प्रारंभ होने से अभ्यर्थी काफी खुश दिखाई दे रहे हैं। पश्चिम बंगाल कॉलेज सर्विस कमीशन ने परीक्षा संबंधी सभी समस्याओं के यथासंभव समाधान हेतु अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + ten =