कोलकाता : सभी निजी व सरकारी अस्पतालों में होगा कोरोना का इलाज

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के मद्देनजर बंगाल सरकार सभी निजी और सरकारी अस्पताल में कोविड-19 इकाई खोलने की योजना बना रही है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘‘सभी सरकारी अस्पतालों को आधारभूत ढांचा सुधारने और अलग कोविड-19 इकाई के लिये पहले ही निर्देश जारी किया जा चुका है।

सरकार कम से कम 19 और रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलीमेरेज चेन रियेक्शन (आरटी-पीसीआर) मशीन खरीदने की योजना बना रही है जिससे राज्य में रोजाना कम से कम 25 हजार जांच सुनिश्चित हो सकें। अधिकारी ने ताया, ‘‘पश्चिम बंगाल में जिस तरह कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं वो बेहद चिंताजनक है। इस प्रसार को रोकने का सबसे अच्छा तरीका ज्यादा जांच करना और आधारभूत ढांचे को बढ़ाना है

फोटो, साभार : गूगल

हमनें बंगाल के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड-19 इकाई स्थापित करने की योजना बनाई है।’’ उन्होंने कहा कि पहले चरण में दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और पूर्व और पश्चिम मिदनापुर जिलों में सरकारी अस्पतालों में यह इकाइयां स्थापित की जाएंगी।

अधिकारी ने कहा, ‘‘जिलों में अस्पतालों में मौजूदा बिस्तरों की संख्या बढ़ाना हमारे पास एक मात्र विकल्प है। इससे शहर के अस्पतालों पर भी दबाव कम होगा।’’ राज्य सचिवालय में सूत्रों में कहा कि इस हफ्ते ‘‘सरकारी और निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों के साथ एक प्रशासनिक स्तरीय बैठक होगी।’’

रोजाना 25000 जांच

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

अधिकारी के मुताबिक फिलहाल रोजाना हो रही औसतन 10,500 जांच को बढ़ाकर 25,000 जांच प्रतिदिन करना भी कोई ‘‘छोटा काम नहीं’’ है।  उन्होंने कहा, ‘‘जांच की संख्या बढ़ाकर ही हमें राज्य में कोविड-19 के प्रसार की सही स्थिति का अंदाजा हो सकता है। लेकिन जांच की संख्या बढ़ाना आसान नहीं है। पहले हम जांच बढ़ाकर 20 हजार करने की योजना बना रहे थे अब इसे 25 हजार कर दिया गया है। हम पहले से मौजूद आरटी-पीसीआई जांच मशीनों की संख्या में 19 और मशीनों का इजाफा करने जा रहे हैं।’’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =