कमरहट्टी में भ्रष्टाचार बर्दाश्त के बाहर : मदन मित्रा

कमरहट्टी (उत्तर 24 परगना)। कमरहट्टी के विधायक मदन मित्रा अब कमरहट्टी नगरपालिका इलाके में चल रहे अवैध निर्माण और भ्रष्टाचार को लेकर मुखर हुए हैं। वरिष्ठ तृणमूल विधायक ने इलाके में कूड़े को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया। कमरहट्टी के विधायक ने आरोप लगाया कि तालाबों को पाटकर घर और अवैध ऊंची इमारतें बनाई जा रही हैं।

मदन मित्रा ने कमरहट्टी नगर पालिका के खिलाफ गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि पूरे कमरहट्टी में अब आवाजाही के लिए जगह नहीं बची है। शहर कूड़े से भरा हुआ है। तालाब को पाटकर बहुमंजिली इमारतें बन रहीं हैं। आए दिन शिकायतें आ रही हैं। अब यह बर्दाश्त से बाहर है।

हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में कमरहट्टी नगरपालिका चेयरमैन के वार्ड में तृणमूल पिछड़ गई। तृणमूल उम्मीदवार सौगत रॉय को न सिर्फ चेयरमैन के वार्ड में, बल्कि कमरहट्टी नगरपालिका के 35 वार्डों में से कई वार्डों में कम वोट मिले।

मदन ने कहा कि अगर तृणमूल उम्मीदवार सौगत रॉय को कुछ वार्डों में अधिक वोट नहीं मिलते तो वह कमरहट्टी नगरपालिका क्षेत्र में पिछड़ सकते थे। उन्होंने टिप्पणी की कि कमरहट्टी में व्यापक भ्रष्टाचार इसका कारण था।

उनके शब्दों में, ”मुख्य रूप से दो आरोप सामने आ रहे हैं। तालाब को पाटकर घर और चार मंजिला मकान को मंजूरी मिलने के बाद अब यह छह मंजिला मकान बन रहा है। आए दिन शिकायतें आ रही हैं।”

कमरहट्टी नगर पालिका के चेयरमैन गोपाल साहा ने विधायक के आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि घर-घर से कूड़ा उठाने के लिए कर्मचारी हैं। गाड़ियां हैं। लेकिन, जब विधायक ने कहा है तो मैं पार्षदों से बात करूंगा।

तालाब को पाटकर घर बनाने के संदर्भ में चेयरमैन ने कहा, ”मेरे विधायक को पता है कि कहां बिना प्लान के घर बन रहे हैं। नगर पालिका की ओर से नोटिस भी दिया गया है। हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।”

भाजपा नेता सजल घोष ने मदन के बयान पर तृणमूल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने जो कहा वह सही है। लोगों के बारे में बात कर रहे हैं लेकिन मदन दा की बातों पर ध्यान मत दीजिए। क्योंकि, उन्हें वॉल्यूम बदलने में ज्यादा समय नहीं लगता है। इसलिए 24 से 48 घंटे तक इंतजार करें।

दरअसल राज्य में 2011 के फेरबदल के दौरान मदन मित्रा ने कमरहट्टी विधानसभा सीट जीती। लेकिन, 2016 में वह माकपा के मानस मुखर्जी से हार गए। मदन फिर 2021 विधानसभा चुनाव में कमरहट्टी से जीतकर विधानसभा पहुंचे। नतीजतन, मदन मित्रा लंबे समय से कमरहट्टी से जुड़े हुए हैं। अब मदन मित्रा ने पार्टी द्वारा संचालित नगर परिषद पर बड़ा आरोप लगाया है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *