जिसकी इच्छा से ही सुब्ह और शाम हो
इक पता जानने में वो नाकाम हो
शबरी से पूछना मार्ग, लीला है बस
ताकि प्रभु- कार्य में भक्त का नाम हो

–डीपी सिंह

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 4 =