फोटो साभार : गूगल

नई दिल्ली/कोलकाताः राज्य में बढ़ते कोरोना के मामले के बीच राज्य सरकार और केंद्र के बीच तकरार भी बढ़ती दिख रही है।  एक तरफ बंगाल सरकार राज्य में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 300 बता रही है तो वहीं दूसरी ओर केंद्र ने राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 450 से अधिक होने का दावा किया है।

केन्द्र के मुताबिक बंगाल को कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 456 है। वहीं राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक अब तक 7037 लोगों की जांच हुई है। यहां कोरोना से 15 लोगों की मौत हुई है। जबकि संक्रमितों की संख्या 300 है। इसमें 79 लोग ठीक भी हुए हैं। फिलहाल रैपिड टेस्ट में आ रही कुछ समस्याओं के कारण टेस्ट प्रक्रिया बंद है। केंद्र की तरफ से जो किट भेजी गई है उससे रैपिड टेस्ट नहीं हो रहा है।

बता दें कि बंगाल में कोरोना का जायजा लेने के लिए केंद्र की दो टीमें आई हैं। जिसे लेकर केन्द्र और राज्य सरकार में घमासान मचा हुआ है। सोमवार को राज्य में केन्द्रीय प्रतिनिधि का दो दल पहुंचा है। बगैर किसी जानकारी के राज्य में प्रतिनिधि दलों के आने से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नाराज हो गई थीं।

ममता बनर्जी ने सोमवार को पूछा था कि राज्यों में लॉकडाउन मानदंडों के क्रियान्वयन का आकलन करने के लिए किस आधार पर छह अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय दलों का गठन किया गया है। ममता ने कहा कि इसका आधार स्पष्ट नहीं है और जबतक उन्हें इस बाबत वैध कारण नहीं मिल जाता है वो इस दिशा में आगे कदम नहीं बढ़ा पाएंगी। मुख्यमंत्री ममता ने कहा कि बिना स्पष्ट वजह के केंद्र की टीमों का आना संघवाद की भावना से मेल नहीं खाता है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + eighteen =