ना देखी ऐसी अराजकता, ना ऐसी केंद्र सरकार : मानस भुइयां

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : तृणमूल कांग्रेस नेता व सांसद डॉ. मानस भुइयां ने कहा कि अपने 48 साल के राजनैतिक जीवन में न तो उन्होंने देश में कभी ऐसी अराजकता देखी और न ऐसी केंद्र सरकार। भाजपा ममता बनर्जी, बंगाल और बंगाली विरोधी मानसिकता के तहत कार्य कर रही है।

केंद्र सरकार देश के संघीय ढांचे को भी गंभीर नुकसान पहुंचा रही है। रविवार को सबंग स्थित अपने कार्यालय में मीडिया से रूबरू होते हुए डॉ. भुइयां ने कहा कि लॉक डाउन और अम्फान तूफान  के  दौरान भाजपा नेता केवल तस्वीरों में ही नजर आए। जमीनी धरातल पर इसके नेताओं ने कोई कार्य नहीं किया।

केवल तस्वीरें खिंचवा कर सोशल मीडिया में  डालते रहे। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  समेत राज्य प्रशासन और दलीय कार्यकर्ता मशीन की तरह 22 घंटे काम करते रहे। डॉ भुइयां ने कहा कि वे पिछले 48 साल से सार्वजनिक जीवन में है, जिसमें 41 साल वे जनप्रतिनिधि रहे, लेकिन भाजपा सरीखी अराजक सरकार उन्होंने पहले कभी नहीं देखी। यह ममता विरोधी, बंगाल विरोधी और बंगाली विरोधी है।

अविवेकपूर्ण लॉक डाउन के चलते लाखों लोगों को भारी मुसीबत झेलनी पड़ी। हमने  सबंग समेत राज्य के विभिन्न भागों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को हर संभव सुख-सुविधा के साथ उनके प्रदेश भेजा, जबकि दूसरे राज्यों में फंसे प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को भारी मुसीबत झेलनी पड़ी। इसे लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखना पड़ा। उनके प्रयासों से ही प्रवासी श्रमिकों को लौटाया जा सका।

सबंग के चटाई उद्योग की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि देश के इस उद्योग में सबंग का योगदान 55 फीसद है। परफ्यूम उद्योग से जुड़े तस्कर इसे नुकसान पहुंचा रहे है। केंद्र सरकार इसे कृषि उत्पाद की मान्यता नहीं दे रही है, जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है। उन्होंने शासन से अनुरोध किया है कि लॉक डाउन हटने के बाद  सबंग के  मादुर  हाट को भी खोल दिया जाए, जिससे किसानों को राहत मिल सके। इस अवसर पर विधायक गीता भुइयां तथा वरिष्ठ नेता अबु कलाम बख्श व विकास भुइयां आदि उपस्थित रहे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten − seven =