कोलकाता । मवेशी तस्करी कांड में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस के बाहुबली नेता व बीरभूम जिला अध्यक्ष अनुब्रत मंडल के करीबी तीन लोगों के घरों पर बोलपुर इलाके में बुधवार की सुबह से ही सीबीआइ की टीम छापेमारी कर रही है। केंद्रीय जांच एजेंसी अनुब्रत के चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) मनीष कोठारी के घर पर भी पहुंची है। यही नहीं मंडल के कुछ और करीबी भी सीबीआइ के निशाने पर हैं।

सीबीआइ के अधिकारी बोलपुर इलाके में छापेमारी अभियान चला रहे हैं। इनमें अनुब्रत के करीबी तृणमूल पार्षद विश्वज्योति बनर्जी के घर भी सीबीआइ अधिकारी गए हैं। उन्हें हिरासत में लिए जाने की भी खबर है। हालांकि सीबीआइ की ओर से अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। उक्त पार्षद को अनुब्रत का बहुत करीबी माना जाता है। बताया जाता है कि विश्वज्योति तृणमूल नेता के विभिन्न कार्यों को देखते थे। उन्हें अनुब्रत के घर पर भी अक्सर देखा जाता था। विश्वज्योति इसी बार पार्षद चुने गए हैं। सीबीआइ पार्षद के घर के अलावा अनुब्रत के करीबी एक अन्य व्यक्ति सुदीप राय के घर भी गई है। सूत्रों के मुताबिक वह बोलपुर नगर पालिका के कर्मचारी हैं।

सीबीआइ सभी संपत्तियों का स्रोत जानना चाहते हैं। बता दें कि सीबीआइ ने मवेशी तस्करी मामले में इस महीने की शुरुआत में अनुब्रत मंडल को गिरफ्तार किया था। फिलहाल वे न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं। इससे पहले सीबीआइ अधिकारियों ने मंगलवार को आसनसोल की जेल में बंद अनुब्रत से पूछताछ की थी। मवेशी तस्करी मामले की जांच में जांच एजेंसी को अनुब्रत की बेटी और उनके रिश्तेदारों के नाम कई संपत्तियों का पता चला है। सीबीआइ के अधिकारी उन सभी संपत्तियों का स्रोत जानना चाहते हैं। सीबीआइ ने अनुब्रत के पूर्व अंगरक्षक सहगल हुसैन से भी सुधार गृह में पूछताछ की थी। उसके एक दिन बाद, केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारी बुधवार सुबह से अनुब्रत के करीबियों के घर छापेमारी अभियान चला रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + 9 =