झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की दुर्गादल महिला सेना की सेनापति झलकारीबाई की जयंती विशेष…

0
“लक्ष्मीबाई का रूप धार, झलकारी खड़ग संवार चली। वीरांगना निर्भय लश्कर में, शस्त्र अस्त्र तन धार चली॥“ – बिहारी लाल हरित श्रीराम पुकार शर्मा, कोलकाता :...

चंदननगर : वर्षों से चली आ रही अनोखी परंपरा, पुरुष साड़ी पहनकर करते हैं...

0
हुगली। भारत के हर क्षेत्र में विभिन्न धर्म को लेकर विभिन्न रीती-रिवाज प्रचलित हैं। कई रिवाज तो ऐसे हैं जो कई सौ सालों से...

स्मृति शेष : ‘यही सच है‘ के फिल्मांकन पर संदेह था मन्नू दी को

0
नयी दिल्ली। प्रख्यात लेखिका मन्नू भंडारी को अपनी कहानी ‘यही सच है‘ का फिल्मांकन संदेहास्पद लग रहा था और ‘रजनीगंधा‘ इस कदर सफल औैर...

स्मृति शेष : अभियान नयी कहानी और हिन्दी साहित्यिक की सबसे प्रसिद्ध लेखिका ‘मन्नू...

0
श्रीराम पुकार शर्मा, कोलकाता : विदेशी शक्तियों से देश की आजादी तो प्राप्त हो गई, परन्तु हमारा देशी समाज अभी भी परतंत्रता की बेड़ियों...

जवाहर लाल नेहरू को समझना, बाल दिवस पर विशेष…

0
डॉ. लोक सेतिया : जिन्होंने उनको देखा, सुना, पढ़ा और पहचाना कोई लाख कोशिश करे, कभी उन लोगों को झूठी बेबुनियाद बातों से अपनी...

“उगहूँ सुरुज देव अरग के बेर, हो अरग केर बेर, हो पूजन केर बेर”

0
श्रीराम पुकार शर्मा, कोलकाता : कल ही तो बहनों ने अपने भाइयों की दीर्घ स्वस्थ्मय आयु की कामना करती हुईं ‘भैया दूज’ पालन कीं,...

आइये, हमलोग दीपावली पर्व मनाएँ

0
श्रीराम पुकार शर्मा, कोलकाता : दीपावली मूलतः अंधकार पर प्रकाश की और बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रकाशीय प्रतीकात्मक सनातनी पर्व है। इस...

स्वामी रामतीर्थ जयंती विशेष

0
श्रीराम पुकार शर्मा, कोलकाता : ‘राम (स्वामी रामतीर्थ) मतैक्य के लिए हैं, मतभेद के लिए नहीं। देश को इस समय आवश्यकता है एकता और संगठन...

लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जयन्ती विशेष

0
‘आवाज में सिंह-सी दहाड़ थी, ह्रदय में कोमलता की पुकार थी’ श्रीराम पुकार शर्मा : जी हाँ! जिस सिंह-सी दहाड़ के सम्मुख तत्कालीन 560 से...

बातें बाइस्कोप की….. “रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं, नाम है शहंशाह!”…

0
श्याम कुमार राई 'सलुवावाला' : एक फिल्म का बेहद ही लोकप्रिय संवाद का जन्म मतभेद के कारण हुआ। सुनने में अजीब और अविश्वसनीय लग...

विशेष

युवा मंच