Home धर्म-कर्म

धर्म-कर्म

सावधानी पूर्वक करें बजरंग बाण का पाठ

0
वाराणसी । बजरंग बाण के बारे में कहा जाता है कि इसका प्रयोग हर कहीं, हर किसी को नहीं करना चाहिए। जब व्यक्ति घोर...

आषाढ़ अमावस्या के दिन अपनी राश‍ि के अनुसार करें दान

0
वाराणसी । अमावस्या माह में एक बार ही आती है, अमावस्या तिथि के स्वामी पितृदेव है। आषाढ़ अमावस्या के विषय में - धार्मिक दृष्टिकोण...

30जून से गुप्त नवरात्रि प्रांरभ, दस महाविद्याओ की होगी साधना

0
वाराणसी । गुप्त नवरात्रि आषाढ़ मास शुक्ल पक्ष से प्रारंभ हो रहे हैं (30 जून 2022 गुरुवार से 8 जुलाई 2022 शुक्रवार तक)। गुप्त नवरात्र...

प्रतिकूल शनि को अनुकूल कैसे करें

0
।।प्रतिकूल शनि को अनुकूल कैसे करें।। 1. शनि देव को वृद्धावस्था का स्वामी कहा गया है, जिस घर में माता पिता व वृद्ध जनों का...

मूंगा धारण करने से होगी मंगल ग्रह की शांति, सेहत भी होगी ठीक

0
वाराणसी। सामान्य उपाय में यदि आप मंगल ग्रह के कुप्रभाव से ग्रसित है तो एक बार मुंगा अवश्य धारण करे मुंगा धारण करने से...

सूर्य और वास्तु

0
वाराणसी । जानिए कौन सा समय किस काम के लिए होता है शुभ? सूर्य, वास्तु शास्त्र को प्रभावित करता है इसलिए जरूरी है कि सूर्य...

तुलसी माला पहनते हैं, तो जरूर पढ़ें ये नियम…

0
वाराणसी । तुलसी की माला साधारण काष्ठ नहीं है। तुलसी की माला वैष्णव चिह्न से भी आगे की चीज़ है। हमारा यह शरीर भगवान...

इन 10 तरीकों से करें हनुमानजी की सेवा, हर संकट मिटेगा

0
वाराणसी । कलिकाल में हनुमानजी की भक्ति ही कही गई है। हनुमानजी की निरंतर भक्त करने से भूत पिशाच, शनि और ग्रह बाधा, रोग...

पति-पत्नी को भूलकर भी नहीं करना चाहिए एक थाली में भोजन!

0
भीष्म पितामह ने बताया था इसका राज वाराणसी । अधिकांश घरों में पति-पत्नी एक ही थाली में भोजन करते हैं। वे ऐसा मानते हैं कि...

चर्चाओं के बीच : ज्योतिष व अंक शास्त्री नीलू कुमारी

0
काली दास पाण्डेय, मुंबई । परफेक्ट वूमन पत्रिका के द्वारा परफेक्ट एचिवर अवॉर्ड से सम्मानित किए जाने के बाद मुंबई मायानगरी में नीलू कुमार का...

विशेष

युवा मंच