नयी दिल्ली। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि वे अभ्यर्थी जो परीक्षा केंद्रों में बदलाव के कारण पहले दिन स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए होने वाली विश्वविद्यालयीन सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूईटी)-स्नातक नहीं दे पाए हैं, उन्हें अगस्त में दूसरे चरण में एक और मौका दिया जाएगा। पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी और पंजाब के पठानकोट में दो केंद्रों पर तकनीकी खामियों के चलते परीक्षा रद्द कर दी गई थी।

एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “जिन 190 से अधिक अभ्यर्थियों को इन दो केंद्रों पर परीक्षा देनी थी, उन्हें अगस्त में दूसरे चरण में मौका दिया जाएगा। वहीं, जो अभ्यर्थी परीक्षा केंद्रों में बदलाव के कारण सीयूईटी-यूजी नहीं दे पाए, उन्हें भी एक और अवसर हासिल होगा।”

भारत और विदेश के 510 से अधिक शहरों के परीक्षा केंद्रों पर शुक्रवार सुबह नौ बजे से सीयूईटी-स्नातक के तहत पहले चरण की परीक्षा शुरू हुई। परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जा रही है। पहले चरण की परीक्षा जुलाई, जबकि दूसरे चरण की परीक्षा अगस्त में होगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × five =