कोलकाता : बढ़े किराये के साथ चलेंगी निजी बसें, पीली टैक्सियों के भी चलने के आसार

फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : राज्य में कोरोना के बढ़ते मामले के बीच राज्य सरकार ने लॉकडाउन में नरमी बरतते हुए 18 मई से बंगाल की निजी बसें संचालित करने की अनुमति दे दी है। हालांकि, निजी बसें 20 से अधिक यात्री नहीं चढ़ा पाएंगे। बस मालिकों की परेशनी को ध्यान में रखते हुए कोलकाता व जिलों में अब निजी बसों का न्यूनतम किराया चार किलोमीटर कर 20 रुपये होगा। वहीं इसके बाद हर चार किलोमीटर पर किराया पांच रुपये बढ़ता जाएगा।

यानी आठ किलोमीटर तक 25, 12 किलोमीटर तक 30, 16 किलोमीटर तक 35, 20 किलोमीटर तक 40 रुपये किराया होगा। यह निर्णय राज्य सरकार और बस मालिकों के संगठनों के साथ हुई बैठक में लिया गया है। बस मालिकों का कहना है कि 20 यात्रियों को लेकर वर्तमान किराया में बस चलाना मुश्किल है। इसी को लेकर राज्य सरकार ने किराया बढ़ाने का निर्णय लिया है।

बस मालिकों के जो संगठन इस बैठक में नहीं मौजूद थे वे लोग भी आपस में चर्चा कर इस नए किराये के अनुरूप बस चलाने का फैसला कर सकते हैं। हालांकि, मिनी बसों का किराया क्या होगा यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है। क्योंकि, मिनी बसों का किराया वर्तमान समय में सामन्य बसों से अधिक है। ऐसे में मिनी बस मालिक क्या करते हैं यह आगामी एक दो दिनों में स्पष्ट हो सकता है।

30 प्रतिशत बढ़े हुए किराए के साथ चल सकती हैं पीली टैक्सियां

बंगाल टैक्सी एसोसिएशन (बीटीए) के सचिव बिमल गुहा ने शुक्रवार को कहा कि शहर की सड़कों पर सोमवार से 30 प्रतिशत बढ़े हुए किराए के साथ पीली टैक्सियों के चलने की संभावना है। एसोसिएशन ने पश्चिम बंगाल परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में वर्तमान दरों में 30 प्रतिशत बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा था। सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, अधिकतम दो यात्रियों को मीटर युक्त टैक्सियों में चढ़ने की अनुमति दी जाएगी और दोनों को पीछे की सीट पर बैठना होगा। गुहा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण लगे देशव्यापी लॉकडाउन के तीसरे चरण के अंत के बाद सोमवार से शहर में टैक्सी सेवाएं फिर से शुरू होने की संभावना है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + fourteen =