कमरहाटी में बमबाजी, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोल, अब तक 14 गिरफ्तार

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की 108 नगर पालिकाओं में चुनाव हो रहे हैं।  मतदान शुरू होने के बाद से लेकर हर जगह से छिटपुट हिंसा और टकराव की शिकायतें मिल रही हैं। खासकर उत्तर 24 परगना के बैरकपुर में मतदान केंद्रों से विपक्षी भाजपा, माकपा और कांग्रेस के पोलिंग एजेंट को मारकर भगाने का आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा है। दावा है कि पुलिस से बार-बार शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। दूसरी ओर, उत्तर 24 परगना के कमरहाटी में बाहरी लोगों द्वारा बमबाजी करने का आरोप लगा है। उसके बाद स्थानीय लोगों ने आरोपी की गोड़ी पकड़ ली और उसमें तोड़फोड़ की गई है।

इसे लेकर पूरे इलाके में उत्तेजना है. दूसरी ओर, अशांति के आरोप के मद्देनजर राज्य चुनाव आयोग के निर्देश पर सुबह 11 बजे तक 11 लोगों (Arrested) को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है. दूसरी ओर, मुर्शिदाबाद के धुलियान में दो राजनीतिक पार्टियों के बीच संघर्ष के बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले चलाये और भीड़ को तितर-बितर कर दिया।

रिपोर्ट्स के अनुसार कमरहाटी नगर पालिका के वार्ड नंबर 23 में तनाव है। नीलगंज रोड से सटे इलाके में तृणमूल द्वारा कथित संरक्षित अपराधियों ने बाइक जुलूस निकाला है। विरोधियों का आरोप है कि डर के मारे लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं. दक्षिण 24 परगना के सोनारपुर बाजपुर विद्यानिधि स्कूल, वार्ड 17 में तनाव है। कथित तौर पर, बाहरी लोगों ने आकर वामपंथियों, कांग्रेस और भाजपा एजेंटों को पीटा और बूथ से बाहर कर दिया। तृणमूल और भाजपा उम्मीदवारों के सामने दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं और समर्थकों के बीच हाथापाई हुई।

मुर्शिदाबाद में भी अधिकतर मतदान केंद्रों पर इसी तरह से हुआ है जिसके बाद सांसद अधीर चौधरी ने अपनी कार में एजेंटों को बैठाया और बूथ पर ले गए। कांग्रेस सांसद का दावा है कि पुलिस की भूमिका मूकदर्शक की है। वहीं, दक्षिण 24 परगना के जयनगर-माजिलपुर नगर पालिका के वार्ड नंबर 11 में तृणमूल और कांग्रेस उम्मीदवारों के बीच मारपीट हुई है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर बाहरी लोगों को वोट देने के लिए लाने का आरोप लगाया।

कालना नगर पालिका के वार्ड नंबर 18 में कतार में खड़े फर्जी मतदाता पकड़े गए हैं। हाथ में सोमनाथ मंडल लिखा हुआ वोटर कार्ड था, लेकिन नाम पूछने पर उन्होंने कहा, परिमल मंडल। कैमरा देखकर तृणमूल एजेंट वोटर कार्ड छीनकर बूथ में घुस गया। पुलिस की भूमिका मूक दर्शक की रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =