कोलकाता। टीएमसी की सांसद महुआ  के द्वारा देवी काली को लेकर दिए गए बयान के खिलाफ बीजेपी ने मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को बीजेपी ने कोलकाता में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया और महुआ मोइत्रा के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दी है। बीजेपी ने मांग की है कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी को महुआ मोइत्रा को पार्टी से निलंबित कर देना चाहिए। दूसरी ओर कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने कहा है कि वह महुआ मोइत्रा पर किए जा रहे हमलों से स्तब्ध हैं।

पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा है कि बंगाल में बार-बार तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति के लिए हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने आज तक से बातचीत में कहा कि बंगाल में काली की बड़े पैमाने पर पूजा होती है और इस तरह का बयान स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की पुलिस नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है लेकिन वह महुआ मोइत्रा के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि वह देवी काली की मूर्ति साथ लेकर रैली करेंगे।

दूसरी ओर, बीजेपी की महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने कोलकाता में सड़कों पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन किया। बता दें कि काली फिल्म का एक पोस्टर सामने आया है जिसमें देवी काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है। इसे लेकर विवाद शुरू हुआ है और कई जगहों पर फिल्म की निर्माता लीना के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। इस बीच, लीना ने ट्वीट कर कहा है कि लोगों को पहले फिल्म देखनी चाहिए और फिर फैसला करना चाहिए।

उन्होंने कहा है कि अगर लोग फिल्म देखेंगे तो वह ट्विटर पर उन्हें गिरफ्तार करने वाले हैशटैग नहीं बल्कि उन्हें प्यार करने वाले हैशटैग लगाएंगे। महुआ मोइत्रा ने भी इस मामले में बुधवार को ट्वीट कर कहा है कि जय मां काली और देवी काली डरती नहीं हैं। कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने कहा है कि हम उस स्थिति में पहुंच गए हैं जहां पर कोई भी सार्वजनिक रूप से धर्म के किसी भी पहलू के बारे में नहीं कह सकता। उन्होंने कहा कि महुआ मोइत्रा ने किसी की भावनाओं को आहत करने की कोशिश नहीं की थी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 5 =