टीएमसी के विरोध प्रदर्शन के बाद बीजेपी ने गंगाजल से पार्टी हेडक्वार्टर को पवित्र किया

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित बीजेपी मुख्‍यालय के सामने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकताओं ने विरोध प्रदर्शन के बाद बीजेपी ने गंगाजल से पार्टी कार्यालय को सैनिटाइज किया। बीजेपी कार्यकर्ता का कहना है कि कुछ चोर हमारे ऑफिस को दूषित करने आए थे। हमने अपने ऑफिस को सेनेटाइज कर लिया है। इससे पहले बंगाल बीजेपी अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि उनकी पार्टी पेट्रोल-डीजल पर वैट कम नहीं करने के लिए राज्य की तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सरकार के खिलाफ अपना विरोध तेज करेगी। उन्होंने आगाह किया कि मांग पूरी नहीं होने पर भविष्य में पार्टी के हजारों समर्थकों राज्य सचिवालय ‘नवन्ना’ तक मार्च निकालेंगे।

बता दें कि केंद्र ने 3 नवंबर को पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमशः 5 और 10 रुपये प्रति लीटर की कटौती की थी तथा लोगों को और राहत देने के लिए राज्यों से ईंधन पर से मूल्य वर्धित कर (वैट) को कम करने का आग्रह किया था, जो राज्य के राजस्व का हिस्सा होता है। बीस से अधिक राज्यों ने ईंधन पर वैट कम करके केंद्र के आह्वान पर अमल किया है, लेकिन पश्चिम बंगाल सहित कुछ राज्यों ने ऐसा नहीं किया है। वैट कम करने वाले अधिकांश राज्य बीजेपी शासित हैं। पश्चिम बंगाल ने वैट कम करने के बजाय केंद्र से तेल के आधार मूल्य को कम करने तथा केंद्र-राज्य कर ढांचे के पुनर्गठन का आग्रह किया है।

उधर, त्रिपुरा में कथित पुलिस बर्बरता को लेकर ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने गृह मंत्रालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. टीएमसी सांसद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाक़ात का समय मांग रहे हैं। डेरेक ओ ब्रायन, सुखेंदु शेखर रॉय, शांतनु सेन, डोला सेन सहित तृणमूल के 16 सांसद आज सुबह दिल्ली में तृणमूल पार्टी कार्यालय पहुंचे। गृह मंत्रालय के बाहर प्रदर्शन के दौरान TMC सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा, ‘त्रिपुरा की सरकार को बर्ख़ास्त किया जाना चाहिए. त्रिपुरा में गुंडा राज कायम किया गया है. गृह मंत्री से हम मिलना चाहते थे, लेकिन उन्होंने हमें समय नहीं दिया है। हमारी TMC युवा नेता पर झूठा मुक़द्दमा दर्ज़ किया गया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − 18 =