Birbhum Violence: राज्य भर में छापेमारी अभियान में बड़ी मात्रा में बम और बंदूक बरामद

कोलकाता। कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश के बाद बीरभूम के बगटुई हत्याकांड की जांच CBI ने अपने हाथ में ले ली है तथा सीबीआई ने बोगटुई ‘हत्याकांड’ की जांच शुरू कर दी है। शनिवार को जिम्मेदारी मिलने के बाद सीबीआई की विशेष टीम घटना स्थल का दौरा करेगी और सीट के अधिकारियों और गवाहों से बातचीत करेगी। इधर राज्य भर में छापेमारी अभियान में बड़ी मात्रा में बम और बंदूक बरामद हुई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा राज्य भर से बमों और अवैध आग्नेयास्त्रों का पता लगाने के लिए पुलिस को छापेमारी अभियान के आदेश के बाद पुलिस ने राज्य के विभिन्न जिलों से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किए।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को बीरभूम के बगटुई गांव का दौरा किया, जहां इस सप्ताह की शुरुआत में आठ लोगों को जिंदा जला दिया गया था। वहीं उन्होंने पुलिस को अवैध हथियारों के खिलाफ अभियान चलाने के आदेश दिए थे। इस बीच कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश के बाद आज सीबीआई की टीम घटना स्थल का दौरा करेगी। CBI की टीम पीड़ितों और गवाहों से बात करेगी। इसके साथ ही पूरे मामले की औपचारिक रूप से जांच शुरू करेगी।

दक्षिण 24 परगना के बरुईपुर थाना जिला पुलिस थाना में तलाशी व नाका चेकिंग चलाया गया इस दौरान भारी मात्रा में अवैध आग्नेयास्त्र बरामद हुए। 23 गैर जमानती वारंट अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। भांगर पुलिस ने सूत्र के जरिए सूचना मिलने पर भांगर के चंदनेश्वर इलाके से कबीरुल पौलन नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। उसके पास से एक बैरल तमंचा और एक कारतूस बरामद किया गया है।

काशीपुर पुलिस ने भांगर के नंगला इलाके में छापेमारी कर साहेब अली मुल्ला नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है। बरुईपुर पुलिस सूत्रों के अनुसार खबर रात में छापेमारी कर बरुईपुर थाना क्षेत्र के कई इलाकों से 23 गैर जमानती वारंटधारी गिरफ्तार किए गए हैं। राज्य पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया कि “हमने बीरभूम, पश्चिम मिदनापुर, दक्षिण 24 परगना सहित राज्य के विभिन्न जिलों से अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है। हथियारों को जब्त कर लिया गया है और सीआईडी ​​और पुलिस बम निरोधक दस्ते द्वारा कच्चे बमों को निष्क्रिय कर दिया गया है।

कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। हालांकि अधिकारी ने कहा कि उन्होंने अभी तक राज्य भर में गिरफ्तारी के आंकड़ों को संकलित नहीं किया है। उन्होंने आगे कहा, “इस तरह की छापेमारी नियमित प्रक्रियाएँ हैं और कोई नई बात नहीं है। हम नियमित रूप से ऐसे हथियार बरामद करते रहते हैं।”

बगटुई हत्याकांड की जांच सीबीआई ने अपने हाथ में ले ली है। सीबीआई अब कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश पर बोगटुई ‘हत्याकांड’ की जांच करेगी। शनिवार को जिम्मेदारी मिलने के बाद सीबीआई की विशेष टीम मौके पर जा रही है। डीआईजी सीबीआई अखिलेश सिंह इसका नेतृत्व कर रहे हैं। केंद्र की फोरेंसिक टीम के साथ CFSL की टीम भी उनके साथ है। सीबीआई टीम का नेतृत्व स्पेशल क्राइम ब्रांच के डीआईजी करेंगे। एसपी के साथ डीएसपी रैंक के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

इस दिन सीबीआई को सीट से सभी केस डायरी और केस के दस्तावेज लेंगे। वहीं सीबीआई जांचकर्ता सीट के जांच अधिकारी से बात करेंगे। सीबीआई को पता चलेगा कि इन तीन-चार दिनों में जांच कितनी आगे निकल गई है, क्या नई जानकारी सामने आई है। साथ ही वे ग्रामीणों और चश्मदीदों से बात करेंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 14 =