‘बीरभूम नरसंहार है बड़ा षड्यंत्र, बंगाल को किया जा रहा है बदनाम’ : ममता बनर्जी

कोलकाता । बीरभूम नरसंहार मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के विरोधी दलों के ऊपर बंगाल को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि उन्नाव हत्याकांड और लखीमपुर मामले की सीबीआई जांच क्यों नहीं हुई है? बीरभूम हत्याकांड को लेकर ममता बनर्जी ने बड़ा बयान दिया है। उत्तर बंगाल दौरे के दौरान सिलीगुड़ी में एक सभा को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि बीरभूम की घटना दुखद है। राज्य सरकार ने कार्रवाई की है, ओसी और एसडीपीओ को निलंबित किया गया है। 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन जिस तरह से घटना को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है, उसे देखकर लगता है कि बंगाल को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।

ऐसा प्रतीत होता है कि यह नरसंहार एक बड़ा षड्यंत्र था, ताकि केंद्र सरकार द्वारा बढ़ाई गई पेट्रोल की कीमत, दवा की कीमत के खिलाफ विरोध ना हो सके। लोगों का ध्यान हटाने के लिए यह काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सीबीआई जांच का स्वागत करती है, लेकिन यदि सीबीआई बीजेपी और सीपीएम के इशारे पर काम करेगी, तो इसके खिलाफ आंदोलन होगा। ममता बनर्जी ने कहा कि यदि कोई बंगाल को बदनाम करेगा, बंगाल की मां, भाई और बहन को बदनाम करेंगे, तो अगले दिन इसका फैसला लोग रहेंगे। इसका जवाब राज्य की जनता देगी। उन्होंने कहा कि जितना भी गाली देना है उन्हें दें लेकिन यदि बंगाल को बदनाम करने की कोशिश की जाएगी तो वह इसका जवाब देंगी।

ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि कुछ लोग आग में घी डालने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि जिस व्यक्ति की हत्या हुई है, वह भी टीएमसी का था और जिसने हत्या की है, वह भी टीएमसी का है। जिस घर आग लगी है, वह भी टीएमसी नेता की है। मेरा हाथ, मेरा पांव और सिर कटा और मुझे ही गाली दी जा रही है। पुलिस ने गलती की, हत्या होने के बाद पुलिस के ओसी और एसडीपीओ को निलंबित किया गया है। तृणमूल ब्लॉक सभापति को गिरफ्तार किया गया है। कुल 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पीड़ितों को आर्थिक मदद दी गई है। दो मोहल्ले के बीच झगड़ा होगा, तो क्या मुझे दोष देंगे?

ममता बनर्जी ने कहा कि उन्नाव में एक लड़की गवाही देकर निकल रही थी। अल्पसंख्यक महिला की आग लगा कर हत्या कर दी गयी। लखीमपुर में किसान आंदोलन कर रहे थे, मंत्री के बेटे ने गाड़ी चलाकर हत्या कर दी। असम में एनसीआर और एनपीआर के दौरान और दिल्ली में कितने लोग मारे गये? कर्नाटक में जो घटना घटी, क्या उन घटनाओं की सीबीआई जांच हुई है? उन्होंने कहा कि बीरभूम की घटना बड़ी साजिश है। इस घटना की जांच हो, सीट अच्छा काम कर रही थी। सीबीआई जांच का आदेश देकर अच्छा किया। राज्य सरकार सीबीआई से सहयोग करेगी, लेकिन यदि सीबीआई बीजेपी और सीपीएम के इशारे पर काम करेगी, तो रास्ते में उतर कर आंदोलन उतरेंगे। नोबेल पुरस्कार चोरी, नंदीग्राम 14 लोगों की हत्या, नेताई में 7 लोगों की हत्या की सीबीआई जांच हुई थी, लेकिन अभी तक इस मामले की सुलह नहीं हो पाई है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =