बिहार विधानसभा चुनाव : पहले चरण में 71 सीटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत प्रदेश के 16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी निगरानी और पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ कोविड-19 को लेकर चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए बुधवार की सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘बिहार विधानसभा चुनावों में आज पहले दौर की वोटिंग है। सभी मतदाताओं से मेरा आग्रह है कि वे कोविड संबंधी सावधानियों को बरतते हुए, लोकतंत्र के इस पर्व में अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करें। दो गज की दूरी का रखें ध्यान, मास्क जरूर पहनें। याद रखें, पहले मतदान, फिर जलपान।’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बुधवार को मतदाताओं से न्याय, रोजगार और किसान-मजदूर के लिए महागठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘इस बार न्याय, रोज़गार, किसान-मज़दूर के लिए आपका वोट हो सिर्फ़ महागठबंधन के लिए। बिहार के पहले चरण के मतदान की आप सभी को शुभकामनाएं।’’

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और विपक्षी महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी प्रसाद यादव ने ट्वीट कर कहा, ‘ आज प्रथम चरण के मतदान के दिन बिहारवासियों के बेहतर भविष्य, शिक्षा, स्वास्थ्य, नौकरी, विकास और नए दौर में नए बिहार के निर्माण के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करे और महागठबंधन के साथ बदलाव के सहभागी बने।’

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि इन 71 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे कड़ी निगरानी और सुरक्षा पुख्ता व्यवस्था के बीच तथा कोविड-19 को लेकर चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए बुधवार की सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। उन्होंने बताया कि आज के मतदान के दौरान दो करोड़ 14 लाख 84 हजार 787 मतदाता जिनमें 78791 सर्विस मतदाता शामिल हैं, अपने अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

संजय ने बताया कि निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्धसैनिक बलों के जवानों की तैनाती किए जाने के साथ कुल 31,380 मतदान केन्द्रों के लिए 31,380-31,380 सेट इवीएम एवं वीवीपैट का प्रबंध किया गया है। उन्होंने बताया कि आज जिन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हो रहा है उनमें से 35 संवेदनशील अथवा अति संवेदनशील हैं जहां मतदान का समय सुबह सात बजे से शाम पांच एवं चार बजे निर्धारित किया गया जबकि बाकी अन्य विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय शाम छह बजे तक जारी रहेगा।

संजय ने बताया कि प्रथम चरण के 71 विधान सभा सीटों में क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र चैनपुर है, मतदातावार सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र हिलसा है तथा मतदातावार ही सबसे छोटा क्षेत्र बरबीघा है। इसी तरह प्रथम चरण में गया टाउन विधान सभा क्षेत्र से इस बार सबसे ज्यादा प्रत्याशी (27) तथा कटोरिया से सबसे कम प्रत्याशी (5) मैदान में हैं।

कोविड-19 को लेकर चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार मतदान कर्मियों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम)की स्वच्छता, मास्क पहनना, थर्मल स्कैनिंग, सेनिटाइजर और साबुन और पानी की उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने के साथ और अन्य सुरक्षात्मक मापदंडों का पालन किया जा रहा है। अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने ‘भाषा’ को बताया कि सभी मतदान केंद्रों और इमारतों में पर्याप्त संख्या में अर्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं। स्थानीय पुलिस का उपयोग जहां भी आवश्यक है, वहां अर्धसैनिक बलों के पूरक के रूप में किया गया है।

उन्होंने कहा कि कतार बनाए रखने जैसे कामों के लिए होमगार्ड जवानों की सेवाओं को मतदान केंद्रों पर इस्तेमाल किया जा रहा है। जितेंद्र कुमार ने कहा कि एहतियात के तौर पर, चुनाव ड्यूटी पर तैनात सभी सुरक्षाकर्मियों को कोविड-19 किट दिया गया है जिसमें मास्क, दस्ताने, फेस शील्ड और सेनिटाइजर शामिल हैं। पहले चरण के मतदान में राज्य के अधिकांश नक्सल प्रभावित इलाके आते हैं। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के लिए विशेष सुरक्षा व्यवस्था की गई है। प्रशासन हवाई निगरानी भी करेगा और इस उद्देश्य के लिए एक हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जाएगा।

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में कुल 1,066 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं जिनमें 114 महिला प्रत्याशी शामिल हैं। प्रमुख राजनीतिक दलों में, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू 35 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, उसके बाद सहयोगी भाजपा (29) है, जबकि विपक्षी राजद ने 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं और 20 विधानसभा क्षेत्रों में उसके गठबंधन सहयोगी कांग्रेस मैदान में है।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबबंधन (राजग) में शामिल जदयू से नाता तोड़कर लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख और दिवंगत केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान इन 71 सीटों में से 41 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में आस्था व्यक्त करते हैं पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मुखर हैं।

प्रमुख उम्मीदवारों में राष्ट्रमंडल खेल में निशानेबाजी में स्वर्ण पदक विजेता श्रेयसी सिंह शामिल हैं, जो 27 साल की उम्र में जमुई से भाजपा उम्मीदवार के रूप में अपना भाग्य आजमा रही हैं। श्रेयसी सिंह को राजद के विजय प्रकाश यादव के खिलाफ खड़ा किया गया है, जो मौजूदा विधायक हैं, जिनके बड़े भाई जयप्रकाश नारायण यादव पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद के करीबी सहयोगी हैं। राज्य मंत्रिमंडल में शामिल प्रेम कुमार (गया टाउन), विजय कुमार सिन्हा (लखीसराय), राम नारायण मंडल (बांका), कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा (जहानाबाद), जयकुमार सिंह (दिनारा) और संतोष कुमार निराला (राजपुर) से पहले चरण के चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

इनमें से वर्मा, सिंह और निराला जदयू के हैं, जबकि शेष भाजपा के हैं। गया जिले की आरक्षित इमामगंज सीट जो औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है, पर पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी, जो राजग के उम्मीदवार और निवर्तमान विधायक हैं का मुकाबला एक बार फिर राजद उम्मीदवार और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी के साथ है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 4 =