किशनगंज (बिहार)। पांच दिन पहले शुरू हुई हावड़ा-जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर पथराव मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। तीनों ही नाबालिग बताए जा रहे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हरी झंडी दिखाकर इस ट्रेन की शुरुआत की थी, जिसे किशनगंज जिले के पोठिया थाना क्षेत्र में पत्थर मार कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। आरपीएफ ने इसका सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया था। इसके साथ ही पोठिया थाना में मामला दर्ज किया था।

इस मामले में पुलिस ने सीसीटीवी के आदार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को हिरासत में लिया है, जबकि एक आरोपी की तलाश जारी है। मिली जानकारी के अनुसार, पहले पश्चिम बंगाल के मालदा में फिर एक दिन बाद किशनगंज जिले पोठिया में ये पथराव हुआ था। एसडीपीओ अनवर जावेद ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि जिन्हें हिरासत में लिया गया है वे तीनों नाबालिग हैं। उन्होंने लोगों से भी अपील की कि सरकारी संपत्ति को नुकसान नहीं पहुचाएं नहीं तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि दो दिन पहले पश्चिम बंगाल के मालदा में पत्थरबाजी की खबर आई थी।  उसको लेकर भी मामला दर्ज कर आरपीएफ की टीम जांच कर रही है। हालांकि, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस घटना के उनके प्रदेश में होने से इनकार किया था। उन्होंने यह भी दावा किया था कि पथराव की घटना बिहार में घटी थी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × five =