कोलकाता। पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के चंदननगर की पियाली बसाक ने रविवार की माउंट एवरेस्ट फतह किया। पियाली रविवार को भारतीय समयानुसार सुबह 8:30 बजे माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचीं। पियाली की जीत ने सभी को चौंका दिया है, क्योंकि उन्होंने माउंट एवरेस्ट की सबसे ऊंची चोटी पर बिना ऑक्सीजन की जीत हासिल की है। माउंट एवरेस्ट पर फतह हासिल करने वालों के इतिहास में यह रिकॉर्ड अभूतपूर्व घटना है। इससे पहले कई शेरपाओं ने बिना ऑक्सीजन के एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचे हैं। देश-विदेश के अन्य पर्वतारोहियों ने भी रिकॉर्ड बनाया है, लेकिन पियाली बसाक बंगाल की पहली पर्वतारोही हैं, जिसने बिना ऑक्सीजन के लिए एवरेस्ट की चोटी पर फतह हासिल की है।

सूत्र के अनुसार एवरेस्ट फतह करने के बाद वह फिलहाल कैंप 4 में शिखर पर लौट रही हैं। इस दौरान पियाली की जीत से उनके परिवार और रिश्तेदारों में खुशी की लहर है। दूसरी ओर, बंगाल के पर्वतारोहियों ने बंगाल की बेटी की भूरी-भूरी प्रशंसा की है। बंगाल के पर्वतारोही नीलांजन रायचौधरी ने कहा, बंगाल और भारत की महिला पर्वतारोहियों में पियाली की यह फतह बहुत महत्वपूर्ण है। ऑक्सीजन के बिना इसके पहले कोई एवरेस्ट पर नहीं चढ़ पाया था। यह विश्व रिकॉर्ड बनने का भी मौका है। बता दें कि पियाली ने दूसरे प्रयास में यह जीत हासिल की है। पिछली बार करीब जाने के बाद भी उन्हें वापस आना पड़ा था। उन्होंने पर्वतारोहण का खर्च क्राउडफंडिंग के जरिए जुटाया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × five =