कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य की राजनीति में एक महत्वपूर्ण गेम-चेंजर बनने के बारे में अटकलों को हवा दे दी, उन्होंने दावा किया कि राज्य के ‘सबसे बड़े चोर’ को अगले महीने गिरफ्तार किया जाएगा और सलाखों के पीछे डाल दिया जाएगा। भाजपा विधायक अग्निमित्रा पॉल के दावा करने के 24 घंटे बाद उनकी टिप्पणी आई, ‘राज्य की राजनीति के लिए दिसंबर एक ‘महत्वपूर्ण’ महीना होगा, क्योंकि तृणमूल कांग्रेस के 30 से अधिक विधायक भगवा पार्टी (बीजेपी) के लगातार संपर्क में हैं।’

नए राज्यपाल सीवी आनंद बोस से मुलाकात के बाद राजभवन के बाहर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए अधिकारी ने कहा, मैं यह नहीं कह रहा हूं कि राज्य सरकार दिसंबर में गिर जाएगी लेकिन इतना तय है कि दिसंबर में राज्य के सबसे बड़े चोर को पकड़कर सलाखों के पीछे डाल दिया जाएगा। बीजेपी पिछले दरवाजे से सत्ता में नहीं आना चाहती है। जनादेश के साथ लोकतांत्रिक तरीके से चुने जाने के बाद हम सत्ता में आएंगे।

अधिकारी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों पर भी प्रतिक्रिया व्यक्त की कि वह राज्य को केंद्रीय बकाया का भुगतान रोकने के लिए केंद्र को उकसा रहे थे। अधिकारी ने कहा, अगर राज्य सरकार ने पहले से उपलब्ध कराए गए केंद्रीय फंड को खर्च करने के मानदंडों का पालन किया होता, तो किसी को भी फंड जारी करने पर आपत्ति नहीं होती। मैंने जो भी आपत्तियां उठाई हैं, वह ठोस सबूतों के आधार पर हैं।

अधिकारी की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल प्रवक्ता कुणाल घोष ने पूछा कि कोई राजनीतिक व्यक्ति पहले से कैसे भविष्यवाणी कर सकता है कि क्या होने वाला है। घोष ने कहा, उनकी टिप्पणी हमारे इस रुख की पुष्टि करती है कि केंद्रीय एजेंसियां भाजपा के निर्देशों के अनुसार काम कर रही हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =