Elephant In Chhattisgarh

बंगाल : पानी नहीं मिला तो हाथियों के झुंड ने उखाड़ा ट्यूबवेल

जलपाईगुड़ी :  जंगल से सटे सरकारी ट्यूबवेल में पानी नहीं मिलने पर हाथियों के झुंड ने ट्यूबवेल को उखाड़ दिया। घटना पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी की है। बताते चले  ग्लोबल वार्मिंग और जंगलों के विनाश के कारण भोजन की  तलाश में जंगली जानवर अक्सर रिहायशी इलाकों पर धावा बोलते हैं।

इसी क्रम में पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी से सटे मेटेली ब्लॉक के लाटागुड़ी जंगल से सटे बारादिघी चाय बागान इलाके में  अपनी प्यास बुझाने के लिए हाथियों का एक झुण्ड रिहायशी इलाके में  ट्यूबवेल की ओर बढ़ा।  इस घटना के  प्रकाश में आते ही  पूरे इलाके में दहशत फैल गई है। इतना ही नहीं हाथियों के झुंड ने इलाके में केले और सुपारी के कई पेड़ों को भी नुकसान पहुंचाया है।

मालूम हो कि इलाके से सटे लाटागुड़ी जंगल से 6 से 7 हाथियों का एक दल बारादिघी चाय बागान में आया था। पानी नहीं मिलने से हाथियों ने बगीचे की चंपा लाइन में लगे ट्यूबवेल को उखाड़ दिया। स्थानीय लोगों की चीख-पुकार के बावजूद हाथी घरों को तो नुकसान नहीं पहुंचा सके लेकिन इलाके में कई पेड़ों को नुकसान पहुंचाया। हाथी बारादिघी चाय बागान से होते हुए लतागुरी जंगल चले गए।

Bengal: When water was not found, a herd of elephants uprooted the tubewell

इस संबंध में क्षेत्र के निवासी भरत टोपनो ने बताया कि कभी-कभी हाथियों का झुंड बगीचे में घुसकर उत्पात मचाते हैं। निवासियों ने क्षेत्र में हाथियों के हमलों को रोकने के लिए वन कर्मियों द्वारा रात्रि गश्त की मांग की है। वन विभाग की ओर से आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।

गौरतलब है कि हाल ही में जंगली हाथियों के एक समूह ने जंगल लावुआ स्थित एक रिसॉर्ट पर हमला कर दिया था। इसके अलावा, हाल ही में, इलाके में हाथियों के हमलों में वृद्धि के कारण, जंगल के आसपास के निवासियों को डर में अपना दिन बिताना पड़ रहा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *