कोलकाता। पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पार्थ चटर्जी से केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अधिकारियों ने पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (डब्ल्यूबीएसएससी) द्वारा भर्ती में गड़बड़ी से जुड़े एक मामले में करीब चार घंटे तक पूछताछ की। चटर्जी इस समय वाणिज्य और उद्योग मंत्री हैं। वह शाम 5.40 बजे मध्य कोलकाता के निजाम पैलेस स्थित सीबीआई कार्यालय पहुंचे और लगभग 9.30 बजे सीबीआई कार्यालय से बाहर आए।सीबीआई कार्यालय से निकलते समय वह काफी थके हुए लग रहे थे और प्रतीक्षारत मीडियाकर्मियों के किसी भी सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया।

हालांकि चटर्जी को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा या नहीं, इस पर सीबीआई अधिकारी अब तक चुप्पी साधे हुए हैं, लेकिन सूत्रों ने कहा कि बुधवार को पूरे पूछताछ सत्र को रिकॉर्ड किया गया। सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, “जब सीबीआई की एक टीम पूर्व शिक्षा मंत्री से पूछताछ कर रही थी, दूसरी टीम डब्ल्यूबीएसएससी की स्क्रीनिंग कमेटी के पांच सदस्यों से पूछताछ कर रही थी, जिसे चटर्जी ने शिक्षा मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान गठित किया था। हम दोनों टीमों द्वारा प्राप्त बयानों की पुष्टि करेंगे और अगली कार्रवाई पर निर्णय लेंगे।”

सीबीआई सूत्रों ने पुष्टि की कि चटर्जी कई सवालों से बचते रहे, यह दावा करते हुए कि उन्हें याद नहीं आ रहा है। यह पूछे जाने पर कि क्या बयानों में विसंगतियों से बचने के लिए चटर्जी और स्क्रीनिंग कमेटी के पांच सदस्यों से एक साथ पूछताछ की संभावना है, सीबीआई सूत्रों ने कहा कि इस पर कोई फैसला पूछताछ करने वाली दो टीमों को मिले बयानों की पुष्टि के बाद ही लिया जाएगा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + nine =