महालया पर चंडी पाठ के प्रसारण को लेकर बंगाल में पुरोहित संगठनों में मतभेद

कोलकाता : महालया पर आकाशवाणी से चंडी पाठ के प्रसारण को लेकर बंगाल में पुरोहित संगठनों में मतभेद उत्पन्न हो गया है। गौरतलब है कि तिथि-नक्षत्रों का इस बार कुछ ऐसा संयोग है कि पितृपक्ष खत्म होने के अगले दिन से इस बार देवी पक्ष शुरू होने नहीं जा रहा।

पुरोहितों का एक वर्ग चाहता है कि आकाशवाणी से चंडी पाठ का प्रसारण इस बार महालया पर न होकर दुर्गापूजा शुरू होने से ठीक सात दिन पहले यानी 16 अक्टूबर को हो। वैदिक पंडित व पुरोहित महामिलन केंद्र के सचिव पंडित निताई चक्रवर्ती ने कहा-‘ इस साल महालया विश्वकर्मा पूजा के दिन यानी 17 सितंबर को है जबकि दुर्गापूजा की महाषष्ठी 22 अक्टूबर को है। 17 अक्टूबर से देवी पक्ष शुरू होगा। उससे पहले दिन यानी 16 अक्टूबर को आकाशवाणी से चंडी पाठ का प्रसारण किया जाना चाहिए। बंगाल के लोगों को दुर्गापूजा के सात दिन पहले चंडी पाठ सुनने की आदत है।’

चट्टोपाध्याय ने हालांकि आगे यह भी कहा कि अगर चाहे तो दुर्गापूजा शुरू होने के सात दिन पहले फिर से चंडी पाठ का प्रसारण किया जा सकता है। गौरतलब है कि महालया पर आकाशवाणी से बीरेंद्र कृष्ण भद्र की अद्भुत वाणी में चंडी पाठ का प्रसारण होता है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 1 =